Friday, January 19, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

तीन तलाक की जंग जीतने वाली मुस्लिम महिलाओं को समाज से सुनने पड़ रहे हैं अपशब्द...

अंग्वाल संवाददाता
तीन तलाक की जंग जीतने वाली मुस्लिम महिलाओं को समाज से सुनने पड़ रहे हैं अपशब्द...

नई दिल्ली। तीन तलाक के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाली इशरत को जहां  एक ऐतिहासिक जीत हासिल हुई है। तो वहीं दूसरी ओर उन्हें सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद समाज और अपने रिश्तेदारों से ताने सुनने को मिल रहे हैं। उनके पड़ोसी उन्हें गंदी औरत और इस्लाम विरोधी बता रहे हैं। इशरत ने इस बात का जिक्र करते हुए कहा कि अब बस मुझ मैं और हिम्मत नहीं बच्ची है। मैं अपना समय अपनी बच्चियों के साथ बीताना चाहती हूं, लेकिन रिश्तेदारों व समाज के बयानों से मैं बहुत परेशान हूं। मर्दे मुझे इस्लाम विरोधी कह रहे हैं। इतना ही नहीं , इशरत का केस लड़ने वाली वकील  नाजिया इलाही खान को भी सोशल मीडिया पर उल्टे-सीटे बयान सुनने पड़ रहे हैं।

यह भी पढ़े- टिकट बुक कराने के साथ ही एयरपोर्ट के लिए बुक करा सकेंगे Ola- Uber कैब


आपको बता दें कि 2004 से इशरत पश्चिम बंगाल में हावड़ा के पास रहती हैं। इशरत जिस घर में रहती है वह उनके पति ने दहेज के पैसों से खरीदा था। उनके पति ने मुंबई से फोन पर उन्हें वर्ष 2014 में तलाक दे दिया था। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक के खिलाफ याचिका दर्ज की गई थी, जिसपर बीते दो दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने फेसले लेते हुए तीन तलाक को असवैंधानिक करार दिया है। साथ ही केंद्र सरकार को 6 माह के अंदर  नया कानून बनाने का आदेश दिया है। फैसला आने के बाद ही लोगों  की बयानबाजी लगातार जारी है।  

यह भी पढ़े- नासा आसमान में करेगा करिश्मा, बनाए जाएंगे चमकते कृत्रिम बादल 

Todays Beets: