Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

गोमतीनगर में दिखी यूपी पुलिस की ‘गुंडागर्दी’, गाड़ी नहीं रोकने पर शख्स को मारी गोली

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गोमतीनगर में दिखी यूपी पुलिस की ‘गुंडागर्दी’, गाड़ी नहीं रोकने पर शख्स को मारी गोली

लखनऊ। उत्तरप्रदेश में अपराधियों का लगातार एनकाउंटर करने वाली पुलिस अब आम लोगों को भी अपनी गोलियों का निशाना बनाने लगी है। शनिवार तड़के लखनऊ के गोमतीनगर इलाके में पुलिस ने एक मल्टीनेशनल कंपनी मंे बतौर एरिया मैनेजर काम करने वाले विवेक तिवारी को गोली मार दी जिसकी अस्पताल में मौत हो गई। इस गोलीकांड के बाद यूपी पुलिस पर कई तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि ऐसी क्या बात हो गई थी कि बिना किसी आपराधिक रिकाॅर्ड वाले व्यक्ति पर पुलिस को गोली चलानी पड़ी? फिलहाल आरोपी सिपाहियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है और जांच शुरू कर दी गई है। 

गौरतलब है कि लोग इसे यूपी पुलिस की गुंडागर्दी कह रहे हैं। बताया जा रहा है कि रात करीब ढाई बजे मल्टीनेशनल कंपनी में काम करने वाले विवेक तिवारी नाम का शख्स अपनी महिला मित्र के साथ कहीं जा रहे थे। पुलिसकर्मियों के इशारे पर गाड़ी नहीं रोकने पर पुलिस ने गोली चला दी जिससे विवेक तिवारी बुरी तरह से घायल हो गए और अस्पताल में उनकी मौत हो गई। 

ये भी पढ़ें - बीएसएफ ने सीमा पर हुई बर्बरता का लिया बदला, 11 पाकिस्तानी सैनिकों को उतारा मौत के घाट 


यहां बता दें कि विवेक तिवारी की महिला मित्र की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी सिपाहियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं, महिला मित्र को पुलिस ने नजरबंद कर दिया है। पुलिस के अनुसार गोमतीनगर विस्तार के सीएमएस स्कूल के पास शुक्रवार रात करीब ढाई बजे एक कार खड़ी थी। उसी दौरान पुलिस बाइक पर सवार होकर गोमतीनगर थाने में तैनात सिपाही प्रशांत चौधरी और एक अन्य सिपाही वहां पहुंचे। दोनों ने कार में एक युवक और युवती को देखा तो मामला संदिग्ध समझकर उनसे पूछताछ के लिए कार के पास पहुंचे। इतने में ही कार चला रहे विवेक तिवारी ने गाड़ी बढ़ा दी। इसके बाद प्रशांत चौधरी ने गोली चला दी और गोली सीधे जाकर विवेक के सिर में लगी। कुछ दूरी पर गाड़ी एक दीवार से टकराकर रुक गई।

बताया जा रहा है कि बुरी तरह से घायल तिवारी को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन बचाया नहीं जा सका। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। 

Todays Beets: