Thursday, January 18, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

आईपीएल फ्रेंचाइजी कोच्चि टस्कर्स ने जीता BCCI के खिलाफ केस, बोर्ड से मांगा 850 करोड़ का हर्जाना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आईपीएल फ्रेंचाइजी कोच्चि टस्कर्स ने जीता BCCI के खिलाफ केस, बोर्ड से मांगा 850 करोड़ का हर्जाना

नई दिल्ली । IPL फ्रेंचाइजी कोच्चि टस्कर्स के लिए मंगलवार का दिन एक बड़ी खुशखबरी लेकर आया है। वर्ष 2011 में निलंबित की गई आईपीएल फ्रेंचाइजी कोच्चि टस्कर्स ने BCCI के खिलाफ आर्बिट्रेशन का केस जीत लिया है। कोर्ट के फैसले के बाद अब कोच्चि टस्कर्स ने BCCI से 850 करोड़ रुपये का हर्जाना मांगा है। वर्ष 2011 में बीसीसीआई ने कोच्चि टस्कर्स केरला को इसलिए निलंबित कर दिया था, क्योंकि यह फ्रेंचाइजी 156 करोड़ रुपए के सालाना भुगतान की बैंक गारंटी देने में नाकाम रही थी। बीसीसीआई के इस फैसले के खिलाफ फ्रेंचाइजी ने बांबे हाई कोर्ट में बीसीसीआई के खिलाफ आर्बिट्रेशन दायर की थी। 

ये भी पढ़ें- ISSF वर्ल्डकप: एयर पिस्टल में जीतू-हीना की जोड़ी ने देश को दिलाया गोल्ड मेडल 


बता दे कि रॉन्देवू स्पोर्ट्स वर्ल्ड ने 1550 करोड़ की रकम में कोच्चि टस्कर्स केरला फ्रेंचाइजी हासिल की थी, लेकिन वह एक सीजन ही खेल पाई थी। इसके बाद  फ्रेंचाइजी 156 करोड़ रुपये के सालाना भुगतान की बैंक गारंटी देने में नाकाम रही थी, जिसके चलते उसे निलंबित कर दिया गया था।

बहरहाल बांबे हाईकोर्ट से आर्बिट्रेशन का केस हारने के बाद आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला का कहना है कि अब कोच्चि टस्कर्स ने 850 रूपये मुआवजा मांगा है। हमने आईपीएल की संचालन परिषद की बैठक में इस पर चर्चा की। अब इस मामले को आमसभा की बैठक में रखा जाएगा। इसके बाद ही इस मामले में कोई ठोस निर्णय लिया जा सकेगा। 

Todays Beets: