Tuesday, September 25, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

आईपीएल फ्रेंचाइजी कोच्चि टस्कर्स ने जीता BCCI के खिलाफ केस, बोर्ड से मांगा 850 करोड़ का हर्जाना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आईपीएल फ्रेंचाइजी कोच्चि टस्कर्स ने जीता BCCI के खिलाफ केस, बोर्ड से मांगा 850 करोड़ का हर्जाना

नई दिल्ली । IPL फ्रेंचाइजी कोच्चि टस्कर्स के लिए मंगलवार का दिन एक बड़ी खुशखबरी लेकर आया है। वर्ष 2011 में निलंबित की गई आईपीएल फ्रेंचाइजी कोच्चि टस्कर्स ने BCCI के खिलाफ आर्बिट्रेशन का केस जीत लिया है। कोर्ट के फैसले के बाद अब कोच्चि टस्कर्स ने BCCI से 850 करोड़ रुपये का हर्जाना मांगा है। वर्ष 2011 में बीसीसीआई ने कोच्चि टस्कर्स केरला को इसलिए निलंबित कर दिया था, क्योंकि यह फ्रेंचाइजी 156 करोड़ रुपए के सालाना भुगतान की बैंक गारंटी देने में नाकाम रही थी। बीसीसीआई के इस फैसले के खिलाफ फ्रेंचाइजी ने बांबे हाई कोर्ट में बीसीसीआई के खिलाफ आर्बिट्रेशन दायर की थी। 

ये भी पढ़ें- ISSF वर्ल्डकप: एयर पिस्टल में जीतू-हीना की जोड़ी ने देश को दिलाया गोल्ड मेडल 


बता दे कि रॉन्देवू स्पोर्ट्स वर्ल्ड ने 1550 करोड़ की रकम में कोच्चि टस्कर्स केरला फ्रेंचाइजी हासिल की थी, लेकिन वह एक सीजन ही खेल पाई थी। इसके बाद  फ्रेंचाइजी 156 करोड़ रुपये के सालाना भुगतान की बैंक गारंटी देने में नाकाम रही थी, जिसके चलते उसे निलंबित कर दिया गया था।

बहरहाल बांबे हाईकोर्ट से आर्बिट्रेशन का केस हारने के बाद आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला का कहना है कि अब कोच्चि टस्कर्स ने 850 रूपये मुआवजा मांगा है। हमने आईपीएल की संचालन परिषद की बैठक में इस पर चर्चा की। अब इस मामले को आमसभा की बैठक में रखा जाएगा। इसके बाद ही इस मामले में कोई ठोस निर्णय लिया जा सकेगा। 

Todays Beets: