Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

मैरी काॅम छठी बार बनी विश्व मुक्केबाजी चैम्पियन, यह कारनामा करने वाली दुनिया की पहली मुक्केबाज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मैरी काॅम छठी बार बनी विश्व मुक्केबाजी चैम्पियन, यह कारनामा करने वाली दुनिया की पहली मुक्केबाज

नई दिल्ली। भारत की स्टार मुक्केबाज एमसी मैरी काॅम ने शनिवार को एक नया इतिहास रच दिया है। मैरी काॅम ने 48 किलोग्राम भार वर्ग में यूक्रेन की मुक्केबाज को पटकनी देते हुए लगातार छठी बार विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप जीत ली है। बता दें कि लगातार 6 बार यह कारनामा करने वाली मैरी काॅम दुनिया की पहली मुक्केबाज बन गई हैं। मैरी काॅम ने पहले ही राउंड से यूक्रेन की मुक्केबाज पर घूंसों की बरसात करते हुए उसे बैकफुट पर ला दिया।

गौरतलब है दूसरे राउंड में विदेशी मुक्केबाज भारी नजर आईं। तीसरे और आखिरी राउंड में दोनों ही खिलाड़ी बराबर नजर आए लेकिन मैरी ने अपने जबर्दस्त मुक्कों के दम से आखिरकार 5-0 के अंतर से खिताबी मुकाबला अपने नाम कर ही लिया। यहां बता दें कि मैरी काॅम ने सेमीफाइनल में उत्तर कोरिया की मुक्केबाज को एकतरफा मुकाबले में धूल चटाने के बाद फाइनल में अपनी जगह पक्की की थी। 


ये भी पढ़ें - कल होने वाले मैच के लिए टीम इंडिया का ऐलान, पांडे को एक बार फिर नहीं मिला मौका

आपको बता दें कि मणिपुर की रहने वाली इस मुक्केबाज ने अब तक 6 स्वर्ण और 1 रजत पदक अपने नाम कर चुकी हैं। मैरी काॅम ने हाल ही में पोलैंड में हाना को पराजित किया था। इससे पहले मैरी काॅम ने साल 2001 में हुई पहली महिला बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था। इसके बाद उन्होंने 2002, 2005, 2006, 2008, 2010 में स्वर्ण पदक जीता था। 

Todays Beets: