Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

ICC ने भारतीय तेज गेंदबाज खलील अहमद को दी चेतावनी , कोड ऑफ कंडक्ट के लेवल-1 के उल्लंघन का दोषी माना 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ICC ने भारतीय तेज गेंदबाज खलील अहमद को दी चेतावनी , कोड ऑफ कंडक्ट के लेवल-1 के उल्लंघन का दोषी माना 

नई दिल्ली । टीम इंडिया के युवा तेज गेंदबाज खलील अहमद को अपने शुरुआती मैचों में ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकट काउंसिल ( ICC ) ने चेतावनी दी है। आईसीसी के मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड ने मंगलवार को खलील अहमद को आधिकारिक चेतावनी जारी करते हुए खिलाड़ियों और सपॉर्ट स्टाफ के लिए कोड ऑफ कंडक्ट के लेवल-1 के उल्लंघन का दोषी माना है। आईसीसी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, खलील ने अपनी गलती को स्वीकार कर लिया है। 


बता दें कि भारत-वेस्टइंडीज के बीच मुंबई में खेल गए चौथे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में खलील ने मेहमान टीम के 3 खिलाड़ियों को 13 रन देकर आउट किया। लेकिन मैच के 14वें ओवर में जब लेफ्ट आर्म पेसर खलील विंडीज के मार्लोन सैमुअल्स को आउट किया तो उन्होंने आक्रामक अंदाज में सैमुअल्स की ओर रुख किया। मैदान पर मौजूद अंपायर इयान गोल्ड और अनिल चौधरी ने इसे सही ऐक्शन नहीं माना जिसके बाद खलील को आधिकारिक तौर पर चेतावनी जारी की गई और 1 डिमेरिट अंक दिया गया। बीस वर्षीय तेज गेंदबाज खलील ने कोड ऑफ कंडक्ट के आर्टिकल 2.5 का उल्लंघन किया। खलील अहमद ने अपनी गलती को स्वीकार कर लिया है जिसके बाद आधिकारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ेगी। 

Todays Beets: