Friday, November 16, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

ICC ने भारतीय तेज गेंदबाज खलील अहमद को दी चेतावनी , कोड ऑफ कंडक्ट के लेवल-1 के उल्लंघन का दोषी माना 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ICC ने भारतीय तेज गेंदबाज खलील अहमद को दी चेतावनी , कोड ऑफ कंडक्ट के लेवल-1 के उल्लंघन का दोषी माना 

नई दिल्ली । टीम इंडिया के युवा तेज गेंदबाज खलील अहमद को अपने शुरुआती मैचों में ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकट काउंसिल ( ICC ) ने चेतावनी दी है। आईसीसी के मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड ने मंगलवार को खलील अहमद को आधिकारिक चेतावनी जारी करते हुए खिलाड़ियों और सपॉर्ट स्टाफ के लिए कोड ऑफ कंडक्ट के लेवल-1 के उल्लंघन का दोषी माना है। आईसीसी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, खलील ने अपनी गलती को स्वीकार कर लिया है। 


बता दें कि भारत-वेस्टइंडीज के बीच मुंबई में खेल गए चौथे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में खलील ने मेहमान टीम के 3 खिलाड़ियों को 13 रन देकर आउट किया। लेकिन मैच के 14वें ओवर में जब लेफ्ट आर्म पेसर खलील विंडीज के मार्लोन सैमुअल्स को आउट किया तो उन्होंने आक्रामक अंदाज में सैमुअल्स की ओर रुख किया। मैदान पर मौजूद अंपायर इयान गोल्ड और अनिल चौधरी ने इसे सही ऐक्शन नहीं माना जिसके बाद खलील को आधिकारिक तौर पर चेतावनी जारी की गई और 1 डिमेरिट अंक दिया गया। बीस वर्षीय तेज गेंदबाज खलील ने कोड ऑफ कंडक्ट के आर्टिकल 2.5 का उल्लंघन किया। खलील अहमद ने अपनी गलती को स्वीकार कर लिया है जिसके बाद आधिकारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ेगी। 

Todays Beets: