Sunday, February 17, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

यूथ ओलंपिक में 15 साल के भारोत्तोलक ने रचा नया इतिहास, स्वर्ण पदक जीतने वाला पहला भारतीय 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूथ ओलंपिक में 15 साल के भारोत्तोलक ने रचा नया इतिहास, स्वर्ण पदक जीतने वाला पहला भारतीय 

नई दिल्ली। अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में चल रहे यूथ ओलंपिक में भारत के उत्तरपूर्वी राज्य से ताल्लुक रखने वाले भारोत्तोलक जेरेमी लालरिनुंगा नया इतिहास रच दिया है। देर रात हुए भारोत्तोलन के मुकाबले में महज 15 साल के लालरिनुंगा ने 62 किलोग्राम वर्ग में कुल 274 किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमा लिया। बता दें कि इस मुकाबले में तुर्की के टॉपटस कानेर (263 किलोग्राम) और कोलंबिया के विलर एस्टिवन ने (260 किलोग्राम) वजन उठाया था। यूथ ओलंपिक के इतिहास में किसी भारतीय ने पहली बार स्वर्ण पदक जीता है।

गौरतलब है कि जेरेमी लालरिनुंगा मिजोरम के रहने वाले हैं। यूथ ओलंपिक में भारत ने अब तक कुल 4 पदक जीते हैं जिसमें 3 रजत पदक शामिल हैं। इससे पहले जेरेमी वर्ल्ड यूथ सिल्वर-मेडलिस्ट भी रहे हैं। बता दें कि जेरेमी लालरिनुंगा ने क्लीन एंड जर्क के आखिरी प्रयास में 150 किलोग्राम वजन उठाया। इससे पहले स्नैच में उन्होंने 124 किलोग्राम का भार उठाया था। लालरिनुंगा ने यूथ एशियन चैंपियनशिप्स में कांस्य पदक जीता था। इस बीच उन्होंने 2 नेशनल रिकॉर्ड भी बनाए थे।

ये भी पढ़ें - पूर्व आॅस्ट्रेलियाई धाकड़ बल्लेबाज हुआ हादसे का शिकार, सिर और गले में आई गहरी चोट

आपको बता दें कि पिछले दिनों भारतीय खिलाड़ियों को वहां सही तरीके से खाना तक नहीं मिल रहा है। भारतीय टीम के साथ गए मैनेजर ने आयोजनकर्ता से इसकी शिकायत भी की थी लेकिन उन्हें सिर्फ आश्वासन दिया गया था। 


 

 

 

 

Todays Beets: