Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

यूथ ओलंपिक में 15 साल के भारोत्तोलक ने रचा नया इतिहास, स्वर्ण पदक जीतने वाला पहला भारतीय 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूथ ओलंपिक में 15 साल के भारोत्तोलक ने रचा नया इतिहास, स्वर्ण पदक जीतने वाला पहला भारतीय 

नई दिल्ली। अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में चल रहे यूथ ओलंपिक में भारत के उत्तरपूर्वी राज्य से ताल्लुक रखने वाले भारोत्तोलक जेरेमी लालरिनुंगा नया इतिहास रच दिया है। देर रात हुए भारोत्तोलन के मुकाबले में महज 15 साल के लालरिनुंगा ने 62 किलोग्राम वर्ग में कुल 274 किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमा लिया। बता दें कि इस मुकाबले में तुर्की के टॉपटस कानेर (263 किलोग्राम) और कोलंबिया के विलर एस्टिवन ने (260 किलोग्राम) वजन उठाया था। यूथ ओलंपिक के इतिहास में किसी भारतीय ने पहली बार स्वर्ण पदक जीता है।

गौरतलब है कि जेरेमी लालरिनुंगा मिजोरम के रहने वाले हैं। यूथ ओलंपिक में भारत ने अब तक कुल 4 पदक जीते हैं जिसमें 3 रजत पदक शामिल हैं। इससे पहले जेरेमी वर्ल्ड यूथ सिल्वर-मेडलिस्ट भी रहे हैं। बता दें कि जेरेमी लालरिनुंगा ने क्लीन एंड जर्क के आखिरी प्रयास में 150 किलोग्राम वजन उठाया। इससे पहले स्नैच में उन्होंने 124 किलोग्राम का भार उठाया था। लालरिनुंगा ने यूथ एशियन चैंपियनशिप्स में कांस्य पदक जीता था। इस बीच उन्होंने 2 नेशनल रिकॉर्ड भी बनाए थे।

ये भी पढ़ें - पूर्व आॅस्ट्रेलियाई धाकड़ बल्लेबाज हुआ हादसे का शिकार, सिर और गले में आई गहरी चोट

आपको बता दें कि पिछले दिनों भारतीय खिलाड़ियों को वहां सही तरीके से खाना तक नहीं मिल रहा है। भारतीय टीम के साथ गए मैनेजर ने आयोजनकर्ता से इसकी शिकायत भी की थी लेकिन उन्हें सिर्फ आश्वासन दिया गया था। 


 

 

 

 

Todays Beets: