Monday, September 25, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

Teachers' Day पर सिंधू ने ट्वीट कर लिखा- मैं अपने कोच से नफरत करती हूं, गोपीचंद... जानिए क्या हुआ

अंग्वाल न्यूज डेस्क
Teachers

नई दिल्ली । 5 सितंबर यानी शिक्षक दिवस के मौके पर अमूमन हर कोई अपने गुरुजन को याद करते हुए उसकी सीख को अपने जीवन का आधार बताया है, लेकिन भारतीय शटल सनसनी पीवी सिंधू ने एक ट्वीट कर अपने कोच के लिए लिखा है कि मैं अपने कोच से नफरत करती हूं, गोपीचंद, इस वीडियो को देखें और जानें क्यों...उनका यह बयान ऐसे समय में आया है जब 22 वर्षीय सिंधू ने पुलेला गोपीचंद की देखरेख में विश्व बैडमिंटन में कई बड़ी उपलब्धी हासिल की है।


इसमें वर्ष 2016 में रियो ओलिंपिक में सिल्वर मेडल भी शामिल है, जो उन्होंने गोपीचंद के कोच रहते हुए ही जीता है, लेकिन अब जनता जानना चाहती है कि आखिर ऐसा क्या हुआ जो सिघू ने अपने कोच से नफरत किए जाने की बात कह डाली। 

असल में Teachers Day पर अपने कोच पुलेला गोपीचंद का आभार जताने के लिए भारतीय शटल सनसनी पीवी सिंधु ने एक डिजिटल फिल्म की निर्माता बनी हैं। उन्होंने स्पोर्ट्स ड्रिंक बनाने वाली कंपनी के साथ मिलकर 'आई हेट माई टीचर' नाम की इस फिल्म का निर्माण किया है। इस ट्वीट को पोस्ट करने के साथ ही सिंधु का कहना है कि शिक्षक दिवस पर मैं अपनी सफलता का सारा श्रेय अपने कोच को समर्पित करती हूं। उन्होंने कहा, इस फिल्म के निर्माण के पीछे का विचार प्रशिक्षकों, शिक्षकों, कोचों और उनके शिष्यों के बीच नफरत और प्रेम के रिश्ते को दर्शाना है। कोच ने मेरे लिए बड़ी मेहनत की है इतना ही नहीं उन्होंने मेरे लिए बड़े सपने देखे हैं। इस शिक्षक दिवस पर मैं अपनी कामयाबी का सारा श्रेय उन्हें देती हूं। 

Todays Beets: