Tuesday, January 23, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

Teachers' Day पर सिंधू ने ट्वीट कर लिखा- मैं अपने कोच से नफरत करती हूं, गोपीचंद... जानिए क्या हुआ

अंग्वाल न्यूज डेस्क
Teachers

नई दिल्ली । 5 सितंबर यानी शिक्षक दिवस के मौके पर अमूमन हर कोई अपने गुरुजन को याद करते हुए उसकी सीख को अपने जीवन का आधार बताया है, लेकिन भारतीय शटल सनसनी पीवी सिंधू ने एक ट्वीट कर अपने कोच के लिए लिखा है कि मैं अपने कोच से नफरत करती हूं, गोपीचंद, इस वीडियो को देखें और जानें क्यों...उनका यह बयान ऐसे समय में आया है जब 22 वर्षीय सिंधू ने पुलेला गोपीचंद की देखरेख में विश्व बैडमिंटन में कई बड़ी उपलब्धी हासिल की है।


इसमें वर्ष 2016 में रियो ओलिंपिक में सिल्वर मेडल भी शामिल है, जो उन्होंने गोपीचंद के कोच रहते हुए ही जीता है, लेकिन अब जनता जानना चाहती है कि आखिर ऐसा क्या हुआ जो सिघू ने अपने कोच से नफरत किए जाने की बात कह डाली। 

असल में Teachers Day पर अपने कोच पुलेला गोपीचंद का आभार जताने के लिए भारतीय शटल सनसनी पीवी सिंधु ने एक डिजिटल फिल्म की निर्माता बनी हैं। उन्होंने स्पोर्ट्स ड्रिंक बनाने वाली कंपनी के साथ मिलकर 'आई हेट माई टीचर' नाम की इस फिल्म का निर्माण किया है। इस ट्वीट को पोस्ट करने के साथ ही सिंधु का कहना है कि शिक्षक दिवस पर मैं अपनी सफलता का सारा श्रेय अपने कोच को समर्पित करती हूं। उन्होंने कहा, इस फिल्म के निर्माण के पीछे का विचार प्रशिक्षकों, शिक्षकों, कोचों और उनके शिष्यों के बीच नफरत और प्रेम के रिश्ते को दर्शाना है। कोच ने मेरे लिए बड़ी मेहनत की है इतना ही नहीं उन्होंने मेरे लिए बड़े सपने देखे हैं। इस शिक्षक दिवस पर मैं अपनी कामयाबी का सारा श्रेय उन्हें देती हूं। 

Todays Beets: