Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

हिजाब पहनने की अनिवार्यता ने नाराज हुई खिलाड़ी, एशियन नेशंस कप चेस चैंपियनशिप से नाम लिया वापस

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हिजाब पहनने की अनिवार्यता ने नाराज हुई खिलाड़ी, एशियन नेशंस कप चेस चैंपियनशिप से नाम लिया वापस

नई दिल्ली। भारत की स्टार शतरंज की खिलाड़ी सौम्या स्वामीनाथन ने ईरान में अगले महीने होने वाली एशियन नेशंस कप चेस चैंपियनशिप से अपना नाम वापस ले लिया है। उनके नाम वापस लेने के पीछे की वजह जानकर आप भी आश्चर्य में पड़ जाएंगे। बता दें कि ईरान में 24 जुलाई से 4 अगस्त के बीच एशियन नेशंस कप चेस चैंपियनशिप होनी है। दरअसल ये टूर्नामेंट ईरान में खेला जाना है और वहां सभी महिला खिलाड़ियों के लिए सिर ढंकना (हिजाब या बुर्खा) अनिवार्य है।

 

गौरतलब है कि सौम्या ने हिजाब पहनने से साफ इंकार करते हुए अपना नाम टूर्नामेंट से वापस ले लिया। सौम्या ने इसे मानव अधिकारों को हनन बताया है। सौम्या ने फेसबुक पर अपनी पोस्ट में लिखा, ‘‘मैं समझ सकती हूं कि आयोजक चाहते हैं कि खिलाड़ी किसी भी चैम्पियनशिप में अपने देश की औपचारिक यूनिफॉर्म के साथ ही देश का प्रतिनिधित्व करें, लेकिन इस तरह से किसी धर्म से जुड़ी पोशाक को जबर्दस्ती पहनाने का कोई नियम नहीं है।’’


 

यहां बता दें कि सौम्या स्वामीनाथन से पहले भारतीय शूटर हीना सिद्घू ने 2016 में ऐसा ही कुछ किया था, उन्होंने एशियन एयरगन शूटिंग चैम्पियनशिप से अपना नाम वापस ले लिया था। 

Todays Beets: