Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

आवेदन की तारीख से पहले ही आनन-फानन में हॉकी टीम के मुख्य कोच की नियुक्ति, शोर्ड मारिन को दी कमान

अंग्वाल संवाददाता
आवेदन की तारीख से पहले ही आनन-फानन में हॉकी टीम के मुख्य कोच की नियुक्ति, शोर्ड मारिन को दी कमान

नई दिल्ली । कुछ दिनों पहले ही हॉकी इंडिया का एक विज्ञापन जारी किया था, जिसमें उसने चीफ कोच पद के लिए आवेदन करने की अंतिम तारीख 15 सितंबर रखी थी, लेकिन उससे पहले ही हॉकी इंडिया ने एक चौंकाने वाला फैसला ले भी लिया। देश के खेल मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ ने लोगों के आवेदन की तारीख से पहले ही एक ट्वीट कर ऐलान कर दिया- भारतीय पुरुष सीनियर हॉकी टीम के नए चीफ कोच शोर्ड मारिन होंगे। वहीं हरेंद्र सिंह को महिला टीम का चीफ कोच बनाने का फैसला लिया गया है। हालांकि इस फैसले का ऐलान हॉकी इंडिया के बजाए खेल मंत्री द्वारा किए जाने पर भी सवाल उठ रहे हैं। कहा ये भी जा रहा है कि ये सब खेल मंत्रालय के दबाव में हुआ है।

ये भी पढ़ें - शहरुख खान की नाइट राइडर्स पहुंची CPL-2017 के फाइनल में, किंग खान बोले- चलो शनिवार को पार्टी करेंगेे

बता दें कि पिछले दिनों हॉकी इंडिया ने एक विज्ञापन जारी कर चीफ कोच के लिए आवेदन मांगे थे। आवेदकों के लिए 15 सितंबर को अंतिम तारीख तय किया गया था। लेकिन अभी लोग अपना आवेदन कर पाते देश के खेल मंत्री ने कोच नियुक्त भी कर दिया। जब इस बारे में हॉकी इंडिया के एक अधिकारी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि 7 सितंबर को एक मीटिंग के बाद चीफ कोच का नाम तय किए जाने पर बात हुई और तय हुआ कि फैसला अभी कर दिया जाए। 


ये भी पढ़ें - भारत-पाकिस्तान के बीच ऐतिहासिक क्रिकेट मैच के वो 5 मिनट, जिसमें पाक के दिग्गज गेंदबाज स्टंप पर सीधी गेंद तक नहीं मार सके...देखे वीडियो

हालांकि हॉकी इंडिया के अधिकारी के बयान और नियुक्ति की जानकारी खेल मंत्री द्वारा दिए जाने के पीछे कुछ 'पकता' नजर जरूर आ रहा है, जिसका धुआं आने वाले दिनों में जरूर नजर आएगा। सवाल चुने गए कोच मारिन को लेकर भी उठाए जा रहे हैं। इस फैसले से नाराज लोगों का कहना है कि देश की पुरुष हॉकी टीम की कमान ऐसे कोच को दी गई है जिसने कभी सीनियर पुरुष टीम को कोचिंग दी ही नहीं है। उन्होने सिर्फ नीदरलैंड की अंडर-21 पुरुष टीम के कोच की भूमिका निभाई है। वहीं जूनियर वर्ल्ड कप दिलाने वाले हरेंद्र सिंह को महिला टीम को जिम्मेदारी दे दी, जिन्होंने कभी महिला टीम की जिम्मेदारी नहीं संभाली है।

ये भी पढ़ें - Teachers' Day पर सिंधू ने ट्वीट कर लिखा- मैं अपने कोच से नफरत करती हूं, गोपीचंद... जानिए क्या हुआ 

Todays Beets: