Wednesday, August 15, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

आजीवन प्रतिबंध झेल रहे श्रीसंथ पर सुप्रीम कोर्ट का दो टूक, बीसीसीआई से 4 हफ्तों में मांगा जवाब

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आजीवन प्रतिबंध झेल रहे श्रीसंथ पर सुप्रीम कोर्ट का दो टूक, बीसीसीआई से 4 हफ्तों में मांगा जवाब

नई दिल्ली। भारतीय तेज गेंदबाज एस श्रीसंथ पर सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई। कोर्ट ने श्रीसंथ पर लगे आजीवन प्रतिबंध पर 4 हफ्तों में बीसीसीआई से जवाब मांगा है। यहां बता दें कि बीसीसीआई के साल 2013 में उसपर आईपीएल में स्पाॅट फिक्सिंग करने के आरोप में आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। श्रीसंथ ने इस फैसले के खिलाफ केरल हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।

फैसले को पलटा

गौरतलब है कि 1 फरवरी को मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने इसे रोस्टर के अनुसार एक उपयुक्त पीठ के समक्ष सुनवाई के लिए सूचीबद्ध करने का निर्देश दिया था। इस पीठ ने कहा, ‘‘इस मामले को 5 फरवरी को रोस्टर के मुताबिक उपयुक्त पीठ के समक्ष रखा जाए। इससे पहले हाईकोर्ट की एक खंडपीठ ने 34 वर्षीय इस तेज गेंदबाज पर एकल पीठ के उस फैसले को पलट दिया था जिसमें बीसीसीआई द्वारा लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को निरस्त किया गया था।’’


ये भी पढ़ें - कोका कोला में मिलेगा जूस का मजा, कंपनी पहली बार भारत में कर रही यह प्रयोग

हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती

यहां बता दें कि केरल हाईकोर्ट ने श्रीसंथ को बीसीसीआई की तरफ से आयोजित होने वाले क्रिकेट के किसी भी मैच में शामिल नहीं करने का आदेश दिया था। श्रीसंथ ने केरल हाईकोर्ट के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। साल 2016 में दिल्ली की एक स्पेशल कोर्ट ने श्रीसंथ को आरोपी मानते हुए इस मामले में उन पर सभी चार्ज तय किए थे।

Todays Beets: