Sunday, June 24, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों पर कसा शिकंजा, मानकों का पालन न करने वाले 149 स्कूल हुए बंद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों पर कसा शिकंजा, मानकों का पालन न करने वाले 149 स्कूल हुए बंद

इटावा। उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद ने इटावा इलाके में मानकों की अवहेलना करने वाले 149 विद्यालयों को तुरंत बंद किए जाने के आदेश दिए हैं । साथ ही इन स्कूलों को हिदायत देते हुए कहा है कि आदेश के बावजूद अगर यहां पठन-पाठन का कार्य होता है तो प्रबंधकों को जेल की हवा खानी पड़ सकती है।

ये भी पढ़े - हरदोई में हुआ भीषण सड़क हादसा, 7 मजदूरों की मौत, 5 गंभीर रूप से जख्मी 

यहां आपको बता दें कि बेसिक शिक्षा परिषद ने मानकों के अनुरूप संचालित न होने वाले इन विद्यालयों को 5 मार्च को नोटिस भेज कर एक महीने तक का समय दिया था। इसके बाद भी मानकों को पूरा नहीं किया गया और न ही विद्यालयों ने नोटिस का कोई जवाब दिया जिसके बाद 10 मई को मान्यता समिति की हुई बैठक में जिले के 149 विद्यालयों की मान्यता को समाप्त करने का फैसला लिया गया।


ये भी पढ़े - शिलांग में स्थिति अभी भी तनावपूर्ण, कर्फ्यू जारी, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग की टीम करेगी राज...

जिला के बेसिक शिक्षाधिकारी राजू राणा ने सोमवार को जिले की 149 विद्यालयों की मान्यता को समाप्त करने का आदेश दिया साथ ही यह चेतावनी भी दी गई की इन विद्यालयों में किसी भी प्रकार का संचालन ना किया जाए।

गौरतलब है कि इन विद्यालयों को मान्यता के मानक पूरा करने का काफी समय दिया गया था, पर स्कूल संचालको ने मानक पूरे नहीं किए। इसलिए इन विद्यालयों की मान्यता को समाप्त कर दिया गया।

Todays Beets: