Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों पर कसा शिकंजा, मानकों का पालन न करने वाले 149 स्कूल हुए बंद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों पर कसा शिकंजा, मानकों का पालन न करने वाले 149 स्कूल हुए बंद

इटावा। उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद ने इटावा इलाके में मानकों की अवहेलना करने वाले 149 विद्यालयों को तुरंत बंद किए जाने के आदेश दिए हैं । साथ ही इन स्कूलों को हिदायत देते हुए कहा है कि आदेश के बावजूद अगर यहां पठन-पाठन का कार्य होता है तो प्रबंधकों को जेल की हवा खानी पड़ सकती है।

ये भी पढ़े - हरदोई में हुआ भीषण सड़क हादसा, 7 मजदूरों की मौत, 5 गंभीर रूप से जख्मी 

यहां आपको बता दें कि बेसिक शिक्षा परिषद ने मानकों के अनुरूप संचालित न होने वाले इन विद्यालयों को 5 मार्च को नोटिस भेज कर एक महीने तक का समय दिया था। इसके बाद भी मानकों को पूरा नहीं किया गया और न ही विद्यालयों ने नोटिस का कोई जवाब दिया जिसके बाद 10 मई को मान्यता समिति की हुई बैठक में जिले के 149 विद्यालयों की मान्यता को समाप्त करने का फैसला लिया गया।


ये भी पढ़े - शिलांग में स्थिति अभी भी तनावपूर्ण, कर्फ्यू जारी, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग की टीम करेगी राज...

जिला के बेसिक शिक्षाधिकारी राजू राणा ने सोमवार को जिले की 149 विद्यालयों की मान्यता को समाप्त करने का आदेश दिया साथ ही यह चेतावनी भी दी गई की इन विद्यालयों में किसी भी प्रकार का संचालन ना किया जाए।

गौरतलब है कि इन विद्यालयों को मान्यता के मानक पूरा करने का काफी समय दिया गया था, पर स्कूल संचालको ने मानक पूरे नहीं किए। इसलिए इन विद्यालयों की मान्यता को समाप्त कर दिया गया।

Todays Beets: