Tuesday, August 14, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

दिल्ली-देहरादून हाईवे पर 361 फीट लंबे तिरंगे की धूम, शहीदों की याद में 35 शिवभक्तों ने निकाली तिरंगा यात्रा

अंग्वाल संवाददाता
दिल्ली-देहरादून हाईवे पर 361 फीट लंबे तिरंगे की धूम, शहीदों की याद में 35 शिवभक्तों ने निकाली तिरंगा यात्रा

मुजफ्फरनगर  । सावन में जारी कांवड़ यात्रा के दौरान शनिवार को मुजफ्फरनगर हाईवे पर उस समय भीड़ उमड़ने लगी, जब लोगों ने सुना की करीब  35 कांवड़िये 361 फीट लंबा तिरंगा झंड़ा लगी कावड़े लेकर आ रहे हैं। बुलंदशहर निवासी ये शिवभक्त देश की रक्षा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए ये कावड़ ला रहे हैं। शनिवार को जैसे ही इस कांवड़ के बारे में पता चला, काफी लोग अपने वाहनों पर बैठकर इस अनोखी कावड़ को देखे हाईवे पर आ गए। इस दौरान युवाओं ने भारत माता की जय के नारे भी लगाए। 

बता दें कि सावन के महीने में दिल्ली-देहरादून हाईवे पर हर साल शिवभक्तों का मेला सा नजर आता है। इस यात्रा के दौरान कई भक्त अपनी भावनाओं के अनुसार, अपनी कांवड़ को सजाते हैं। इस साल फिर से तिरंगे वाली कांवड़ राजमार्ग पर लोगों का आकर्षण अपनी ओर खींचने में कामयाब रही है। 361 फीट लंबी तिरंगे वाली इस कांवड़ टोली के लालचंद राजपूत कहत हैं कि  हमें हमारे देश और अपने तिरंगे से बहुत प्यार है। देश की सुरक्षा में शहीद होने वाले जवानों को हम नमन करते हैं। 


इसी तरह इस तिरंगा यात्रा में शामिल नरेंद्र सैनी का कहना है कि हमारी इस तिरंगा कांवड़ यात्रा का मकसद लोगों को याद दिलाना है कि सरहद पर कोई हमारी सुरक्षा के लिए अपनी जान हथेली पर लेकर बैठा है। कई ऐसे हैं जिन्होंने देश की सुरक्षा के लिए अपने प्राणों का सर्वोच्च बलिदान किया है। हमें ऐसे शहीदों से प्रेरणा लेनी चाहिए और देश को सर्वोच्च मानना चाहिए। 

Todays Beets: