Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

दिल्ली-देहरादून हाईवे पर 361 फीट लंबे तिरंगे की धूम, शहीदों की याद में 35 शिवभक्तों ने निकाली तिरंगा यात्रा

अंग्वाल संवाददाता
दिल्ली-देहरादून हाईवे पर 361 फीट लंबे तिरंगे की धूम, शहीदों की याद में 35 शिवभक्तों ने निकाली तिरंगा यात्रा

मुजफ्फरनगर  । सावन में जारी कांवड़ यात्रा के दौरान शनिवार को मुजफ्फरनगर हाईवे पर उस समय भीड़ उमड़ने लगी, जब लोगों ने सुना की करीब  35 कांवड़िये 361 फीट लंबा तिरंगा झंड़ा लगी कावड़े लेकर आ रहे हैं। बुलंदशहर निवासी ये शिवभक्त देश की रक्षा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए ये कावड़ ला रहे हैं। शनिवार को जैसे ही इस कांवड़ के बारे में पता चला, काफी लोग अपने वाहनों पर बैठकर इस अनोखी कावड़ को देखे हाईवे पर आ गए। इस दौरान युवाओं ने भारत माता की जय के नारे भी लगाए। 

बता दें कि सावन के महीने में दिल्ली-देहरादून हाईवे पर हर साल शिवभक्तों का मेला सा नजर आता है। इस यात्रा के दौरान कई भक्त अपनी भावनाओं के अनुसार, अपनी कांवड़ को सजाते हैं। इस साल फिर से तिरंगे वाली कांवड़ राजमार्ग पर लोगों का आकर्षण अपनी ओर खींचने में कामयाब रही है। 361 फीट लंबी तिरंगे वाली इस कांवड़ टोली के लालचंद राजपूत कहत हैं कि  हमें हमारे देश और अपने तिरंगे से बहुत प्यार है। देश की सुरक्षा में शहीद होने वाले जवानों को हम नमन करते हैं। 


इसी तरह इस तिरंगा यात्रा में शामिल नरेंद्र सैनी का कहना है कि हमारी इस तिरंगा कांवड़ यात्रा का मकसद लोगों को याद दिलाना है कि सरहद पर कोई हमारी सुरक्षा के लिए अपनी जान हथेली पर लेकर बैठा है। कई ऐसे हैं जिन्होंने देश की सुरक्षा के लिए अपने प्राणों का सर्वोच्च बलिदान किया है। हमें ऐसे शहीदों से प्रेरणा लेनी चाहिए और देश को सर्वोच्च मानना चाहिए। 

Todays Beets: