Wednesday, September 19, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

बेगूसराय में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत, ‘सुशासन बाबू’ के दावों की खुली पोल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बेगूसराय में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत, ‘सुशासन बाबू’ के दावों की खुली पोल

पटना। बिहार में शराबबंदी को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दावों की पोल खुलती जा रही है। राज्य के अलग-अलग हिस्सों में जहरीली शराब पीने की वजह से मरने वालों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। बेगूसराय जिले में भी स्प्रिट मिली शराब पीने से चार लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों में पोखरिया मोहल्ला के मनोज पासवान (40 साल), लोहिया नगर का प्रदीप कुमार (32), पोखरिया का ही सोनू कुमार और सोनी राम पिता का नाम बलदेव राम शामिल हैं।

गौरतलब है कि ये सभी दोस्त शराब के आदी थे और रोज एक  ही जगह पर बैठकर शराब पीते थे। इनमें से 3 की मौत देर रात हो गई और एक ने सोमवार को दम तोड़ दिया। स्थानीय लोगों ने बताया कि बीती रात चारों दोस्तों ने स्टेडियम में बैठकर खतरनाक स्प्रिट का सेवन किए थे जिसके बाद इनकी स्थिति बिगड़ने लगी। परिजनों के द्वारा इन्हें निजी नर्सिंग होम एवं स्थानीय डॉक्टरों से दिखाया गया लेकिन घंटे भर के अंदर ही चारों की मौत हो गई। घटना के बाद पोखरिया मोहल्ले में मातम पसरा है।

ये भी पढ़ें - सीएम योगी का निर्देश, अब नोएडा सेक्टर 123 से शिफ्ट होगा डंपिंग यार्ड


बता दें कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है इसके बावजूद बड़ी संख्या में शराब की बड़ी खेप पकड़ी जा रही हैं। ऐसे में राज्य की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर बड़े सवाल खड़े हो गए हैं।  

 

Todays Beets: