Sunday, September 23, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

मिर्जापुर में विषाक्त भोजन करने से 90 छात्र हुए बीमार, डीएम ने दिए जांच के आदेश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मिर्जापुर में विषाक्त भोजन करने से 90 छात्र हुए बीमार, डीएम ने दिए जांच के आदेश

मिर्जापुर। उत्तरप्रदेश के मिर्जापुर इलाके के एक स्कूल में विषाक्त भोजन करने से 90 छात्र बीमार हो गए हैं। भोजन करने के बाद छात्रों ने पेट में दर्द और उल्टी आने की शिकायत की। धीरे-धीरे छात्रों की संख्या बढ़ती गई और स्कूल प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। गंभीर हालत में छात्रों को विंध्याचल हेल्थ सेंटर में भर्ती कराया गया है। खाने की जांच करने पर उसमें मरी हुई छिपकिली मिली है। 

एहतियाती कदम 

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी जहां दीन दयाल उपाध्याय की जन्मशताब्दी मना रही है वहीं उनके नाम पर चल रहे विद्यालय में  छात्रों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। मिर्जापुर के स्कूल में खाना खाने से छात्रों की हालत बिगड़ने पर उन्हें विन्ध्याचल हेल्थ सेंटर में भर्ती कराया गया है। गौर करने वाली बात है कि मीरजापुर के विंध्याचल में पंडित दीनदयाल उपाध्याय आश्रम पद्धति के 90 बच्चे बीमार पड़ गए हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि बच्चों को पेट दर्द व उल्टी की शिकायत पर यहां लाया गया। इनमें कुछ बच्चों की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।विंध्याचल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर देर रात तक कुल 45 बच्चों को इलाज चल रहा था जबकि अन्य को अलग-अलग निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया था। बीमार बच्चों में 12 की हालत खतरे से बाहर बताई गई है।  बीमार बच्चों के बारे में सूचना मिलने पर डीएम बिमल कुमार दुबे भी मौके पर पहुंचे और संबंधितों को हर एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दिए। डीएम ने साफ तौर पर कहा है कि इसके लिए जिम्मेदार किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। 


ये भी पढ़ें - लालू ने भाजपा के ‘विकास’ पर किया तंज, कहा- जो पैदा ही नहीं हुआ वो मरेगा कैसे

 

Todays Beets: