Wednesday, November 21, 2018

Breaking News

   चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा, कोर्ट में किया था सरेंडर     ||   MP में चुनाव प्रचार के दौरान शख्स ने BJP कैंडिडेट को पहनाई जूतों की माला     ||   बेंगलुरु: गन्ना किसानों के साथ सीएम कुमारस्वामी की बैठक     ||   US में ट्रंप को कोर्ट से झटका, अवैध प्रवासियों को शरण देने से नहीं कर सकते इनकार    ||   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||

मिर्जापुर में विषाक्त भोजन करने से 90 छात्र हुए बीमार, डीएम ने दिए जांच के आदेश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मिर्जापुर में विषाक्त भोजन करने से 90 छात्र हुए बीमार, डीएम ने दिए जांच के आदेश

मिर्जापुर। उत्तरप्रदेश के मिर्जापुर इलाके के एक स्कूल में विषाक्त भोजन करने से 90 छात्र बीमार हो गए हैं। भोजन करने के बाद छात्रों ने पेट में दर्द और उल्टी आने की शिकायत की। धीरे-धीरे छात्रों की संख्या बढ़ती गई और स्कूल प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। गंभीर हालत में छात्रों को विंध्याचल हेल्थ सेंटर में भर्ती कराया गया है। खाने की जांच करने पर उसमें मरी हुई छिपकिली मिली है। 

एहतियाती कदम 

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी जहां दीन दयाल उपाध्याय की जन्मशताब्दी मना रही है वहीं उनके नाम पर चल रहे विद्यालय में  छात्रों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। मिर्जापुर के स्कूल में खाना खाने से छात्रों की हालत बिगड़ने पर उन्हें विन्ध्याचल हेल्थ सेंटर में भर्ती कराया गया है। गौर करने वाली बात है कि मीरजापुर के विंध्याचल में पंडित दीनदयाल उपाध्याय आश्रम पद्धति के 90 बच्चे बीमार पड़ गए हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि बच्चों को पेट दर्द व उल्टी की शिकायत पर यहां लाया गया। इनमें कुछ बच्चों की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।विंध्याचल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर देर रात तक कुल 45 बच्चों को इलाज चल रहा था जबकि अन्य को अलग-अलग निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया था। बीमार बच्चों में 12 की हालत खतरे से बाहर बताई गई है।  बीमार बच्चों के बारे में सूचना मिलने पर डीएम बिमल कुमार दुबे भी मौके पर पहुंचे और संबंधितों को हर एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दिए। डीएम ने साफ तौर पर कहा है कि इसके लिए जिम्मेदार किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। 


ये भी पढ़ें - लालू ने भाजपा के ‘विकास’ पर किया तंज, कहा- जो पैदा ही नहीं हुआ वो मरेगा कैसे

 

Todays Beets: