Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

मिर्जापुर में विषाक्त भोजन करने से 90 छात्र हुए बीमार, डीएम ने दिए जांच के आदेश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मिर्जापुर में विषाक्त भोजन करने से 90 छात्र हुए बीमार, डीएम ने दिए जांच के आदेश

मिर्जापुर। उत्तरप्रदेश के मिर्जापुर इलाके के एक स्कूल में विषाक्त भोजन करने से 90 छात्र बीमार हो गए हैं। भोजन करने के बाद छात्रों ने पेट में दर्द और उल्टी आने की शिकायत की। धीरे-धीरे छात्रों की संख्या बढ़ती गई और स्कूल प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। गंभीर हालत में छात्रों को विंध्याचल हेल्थ सेंटर में भर्ती कराया गया है। खाने की जांच करने पर उसमें मरी हुई छिपकिली मिली है। 

एहतियाती कदम 

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी जहां दीन दयाल उपाध्याय की जन्मशताब्दी मना रही है वहीं उनके नाम पर चल रहे विद्यालय में  छात्रों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। मिर्जापुर के स्कूल में खाना खाने से छात्रों की हालत बिगड़ने पर उन्हें विन्ध्याचल हेल्थ सेंटर में भर्ती कराया गया है। गौर करने वाली बात है कि मीरजापुर के विंध्याचल में पंडित दीनदयाल उपाध्याय आश्रम पद्धति के 90 बच्चे बीमार पड़ गए हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि बच्चों को पेट दर्द व उल्टी की शिकायत पर यहां लाया गया। इनमें कुछ बच्चों की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।विंध्याचल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर देर रात तक कुल 45 बच्चों को इलाज चल रहा था जबकि अन्य को अलग-अलग निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया था। बीमार बच्चों में 12 की हालत खतरे से बाहर बताई गई है।  बीमार बच्चों के बारे में सूचना मिलने पर डीएम बिमल कुमार दुबे भी मौके पर पहुंचे और संबंधितों को हर एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दिए। डीएम ने साफ तौर पर कहा है कि इसके लिए जिम्मेदार किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। 


ये भी पढ़ें - लालू ने भाजपा के ‘विकास’ पर किया तंज, कहा- जो पैदा ही नहीं हुआ वो मरेगा कैसे

 

Todays Beets: