Monday, April 22, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

बिहार कांग्रेस के विधायकों का का बड़ा फैसला , अब राजद के पीछे-पीछे नहीं चलेंगे

अंग्वाल न्यूज डेस्क

बिहार कांग्रेस के विधायकों का का बड़ा फैसला , अब राजद के पीछे-पीछे नहीं चलेंगे

पटना । प्रियंका गांधी वाड्रा को कांग्रेस का महासचिव बनाए जाने के बाद से पार्टी और कार्यकर्ताओं-नेताओं में एक नया जोश भर गया है। इस सब के बीच आगामी लोकसभा चुनावों की तैयारी को ध्यान में रखते हुए बिहार कांग्रेस ने भी एक बड़ा फैसला लिया है। बिहार में एनडीए की चुनौतियों को तैयार करने के लिए राष्ट्रीय जनता दल के नेतृत्व में एकत्रित हो रहे दलों से कांग्रेस ने खुद को अलग करने के संकेत दिए हैं। पार्टी ने साफ कर दिया है कि वह राज्य में राजद के पीछे-पीछे नहीं चलेगी। काग्रेंसी विधायकों ने हाल में एक बैठक कर NDA के सामने गठबंधन में राजद से बराबरी की सीटों का हक मांगा है। इसी के मद्देनजर कांग्रेस ने साफ कर दिया है कि जब तक राजद काग्रेस के साथ सांमजस्य नहीं बैठाती कांग्रेस सदन में राजद का समर्थन नहीं करेगी। 

राहुल गांधी LIVE - मैं जब पीएम मोदी से गले मिला तो मेरे अंदर नफरत नहीं थी, प्यार था और मैंने प्यार से उनकी नफरत को दबा दिया

बैठक में लिए गए अहम फैसले

जानकारी के अनुसार , बिहार विधानसभा में राजद के रुख को देखते हुए कांग्रेसी विधायकों ने बुधवार शाम सदानंद सिंह के घर एक बैठक की। कांग्रेस विधानमंडल दल की इस बैठक में 27 में से मात्र 14 विधायक और 3 MLC शामिल हुए । यूं तो इस बैठक के प्राथमिक बिंदुओं में बजट सत्र में कांग्रेस की भूमिका को तय करना था,  लेकिन इस दौरान ज्यादातर कांग्रेसी विधायक राजद के रुख से नाराज आए। सभी का कहना था कि राजद के हंगामे के चलते और वॉक आउट के चलते सदन चल ही नहीं पाया। 


 प्रियंका-सिंधिया से मुलाकात करने वालों से भरवाया जा रहा फॉर्म, पूछी जा रही जाति

राजद को कांग्रेस के साथ समन्वय बनाना होगा

इस दौरान बैठक में प्रस्ताव पारित किया गया कि अब कांग्रेस सदन में और राज्य में राजद के पीछे-पीछे नहीं चलेगा। सदन में अगर राजद को कांग्रेस का साथ चाहिए तो उन्हें पार्टी के साथ समन्वय बनाना होगा। पार्टी ने साफ किया कि दोनों दलों की आम सहमति बनाए जाने के बाद ही वे सदन का वॉक आउट करेंगे, लेकिन जिन मुद्दों पर दोनों दलों की आम सहमति नहीं होगी, उनपर दोनों दल सदन का वॉक आउट नहीं करेंगे। 

मुलायम सिंह के पूर्व 'हमराज- हमसाये' ने किया पीएम मोदी की तारीफ को लेकर खुलासा , बताया मोदी सरकार की सराहना का कारण

Todays Beets: