Friday, October 20, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

बसपा सुप्रीमो मायावती ने राज्यसभा से इस्तीफा दिया, सरकार पर आवाज दबाने का लगाया आरोप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बसपा सुप्रीमो मायावती ने राज्यसभा से इस्तीफा दिया, सरकार पर आवाज दबाने का लगाया आरोप

नई दिल्ली । बसपा सुप्रीमो मायावती ने राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया । अपने इस फैसले के साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि सहारनपुर हिंसा में दलितों के उत्पीड़न पर मुझे बोलने का मौका सत्ता पक्ष ने नहीं दिया।  इसलिए मैंने राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार मुझे सदन में अपनी बात रखने का मौका नहीं दे रही है। हालांकि यूपीए के सदस्यों ने मुझे अपने फैसले पर विचार करने को कहा था लेकिन मैंने इस्तीफा देना ज्यादा उचित समझा है। सूत्रों का कहना है कि उनका इस्तीफा जल्द स्वीकार भी कर लिया जाएगा।

बता दें कि मानसून सत्र की शुरुआत के पहले ही दिन बसपा सुप्रीमो मायावती के एक फैसले ने सबको चौंका दिया। पिछले कुछ समय में दलित राजनीति में अपनी पकड़ ढीली छोड़ने वाली मायावती ने मंगववार को राज्ससभा सांसद पद से इस्तीफा दिया। एक बार फिर उन्होंने अपने इस फैसले के पीछे केंद्र की मोदी सरकार को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ सालों से उन्हें सदन में बोलने नहीं दिया जा रहा है। वह दलितों के मुद्दे सदन में सही तरीके से नहीं उठा पा रही हैं। संसद के सुबर के सत्र में मायावती ने कहा था कि अगर मुझे सहारनपुर हिंसा में दलितों के उत्पीड़न पर बोलने का मौका नहीं दिया तो मैं सदन से इस्तीफा दे दूंगी। शाम होते होते उन्होंने अपने इस्तीफे का ऐलान कर दिया। 


इससे पहले संसद से बेहद गुस्से में बाहर निकलीं बसपा सुप्रीमो मायावती ने सदन के बाहर आकर कहा कि उन्हें सदन में अपनी बात नहीं रखने दी जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार दलीतों के नाम पर नोटंकी कर रही है। 

Todays Beets: