Saturday, April 20, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

VHP की धर्मसंसद से पहले योगी आदित्यनाथ RSS प्रमुख मोहन भागवत से मिलने पहुंचे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
VHP की धर्मसंसद से पहले योगी आदित्यनाथ RSS प्रमुख मोहन भागवत से मिलने पहुंचे

प्रयागराज । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को प्रयागराज में संघ प्रमुख मोहन भागवत से मिलने पहुंचे हैं। उनकी इस मुलाकात को इसलिए भी अहम माना जा रहा क्योंकि आज विश्व हिन्दू परिषद की भी एक धर्म संसद प्रयागराज में होने जा रही है, जिसमें करीब 2000 संतों को आमंत्रण भेजा गया है। कयास लगाए जा रहे हैं कि योगी संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात के दौरान राम जन्मभूमि के मुद्दे के साथ ही राममंदिर निर्माण को लेकर परम धर्मसंसद में लिए गए फैसले पर चर्चा करेंगे। 

बता दें कि बुधवार को प्रयागराज में हुई परम धर्मसंसद में शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती की अगुवाई में फैसला लिया गया था कि बसंत पंचमी के बाद साधु संत अयोध्या की ओर कूच करेंगे। इस धर्मसंसद में धर्मादेश दिए गया कि 21 फरवरी को राम मंदिर निर्माण की आधार शिला रखी जाएगी । इस सब के बाद गुरुवार को VHP की धर्म संसद होने जा रही है। इस सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात करने पहुंचे हैं। 


अब ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि दोनों धर्मसंसदों के फैसलों के अनुरूप आगे की रणनीति पर मंथन कर सकते हैं। हालांकि इससे पहले केंद्र की मोदी सरकार विवादित भूमि से इतर जमीन को रामजन्म भूमि न्यास को सौंपे जाने की मांग कर चुकी है, जिसपर भी विवाद खड़ा हो गया है। कुछ संत इसे राम जन्मभूमि से अलग मंदिर बनाने की साजिश करार दे रहे हैं तो कुछ इस मुद्दे पर नए विवाद खड़े कर रहे हैं। 

बहरहाल, अभी योगी आदित्यनाथ संघ प्रमुख से मिलने पहुंचे हैं, अब देखना होगा कि उनकी इस बातचीत के बाद क्या भाजपा कोई ऐलान कर सकती है । 

Todays Beets: