Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

दो पक्षों के झगड़े में बीचबचाव करना पड़ा महंगा, दबंगों ने घर में घुसकर परिजनों पर किया चाकू से हमला, एक की मौत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दो पक्षों के झगड़े में बीचबचाव करना पड़ा महंगा, दबंगों ने घर में घुसकर परिजनों पर किया चाकू से हमला, एक की मौत

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली से फिर एक चौंका देने वाला मामला सामने आया है। दिल्ली के वजीपुर की जेज कॉलोनी में 15 से 20 लोगों ने एक परिवार के तीन सदस्यों पर रविवार रात चाकुओं से हमला किया। इस घटना में 35 वर्षीय युवक दीपक की मौत हो गई। मारपीट का यह मामला महज 1500 रुपये के लेन-देन के चलते दो पक्षों के बीच हुए झगड़े से शुरू हुआ। इसके बाद एक पक्ष ने बीचबचाव करने वाले दीपक के घर में घुसकर उसपर चाकूओं से बार किए। साथ ही परिजनों के साथ मारपीट भी की, जिसमें दीपक की मौत हो गई, जबकि उसकी मां और पिता को भी काफी चोट आई हैं।

जानकारी के अनुसार रोहित और रवि से विशाल अपने 1500 रुपये की मांग कर रहा था। लेन-देन की बात पर दोनों पक्षों के बीच झगड़ा हो गया । जब घटना की जानकारी विशाल के चचेरे भाई दीपक को लगी तो उसने मौके पर पहुंच कर आरोपी रोहित और रवि को थप्पड़ मारकर झगड़ा शांत करवाया । इसके बाद सब अपने-अपने घर चले गए।

उस दौरान भले ही झगड़ा शांत हो गया लेकिन कुछ देर बाद आरोपी रोहित और रवि समेत 15-20 लोग कई बाइक पर सवाल होकर आए और चाकूओं से दीपक के परिवार पर हमला कर दिया। वारदात को अंजान देने के बाद आरोपी घटनास्थल से फरार हो गए।


गंभीर रूप से घायल परिजनों को दीपचंद बंधु अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां दीपक की मौत हो गई, जबकि उसके माता पिता की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है। घटना के बाद इलाके में पुलिस की तैनाती कर दी गई है। पुलिस ने मामला दर्जकर फरार आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। पीड़ित परिवार ने इस मामले में पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

इस पूरे मामले में पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस को झगड़े की जानकारी समय रहते दे दी गई थी, इसके बावजूद पुलिस समय से घटनास्थल पर नहीं पहुंच थी। अगर पुलिस समय रहते पहले ही झगड़े की जगह पर पहुंच जाती तो आगे बात ही नहीं बढ़ती। दीपक के भाई का कहना है कि पुलिस की लेटलतीफी के चलते उसके भाई की जान चली गई। पीसीआर को फोन करके झगड़े की जानकारी दी गई थी, लेकिन करीब आधे घंटे तक पुलिस मौका-ए-वारदात पर नहीं पहुंची।

 

Todays Beets: