Wednesday, September 19, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह ने कहा- हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए नहीं काटे जाएंगे पेड़

अंग्वाल न्यूज डेस्क
केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह ने कहा- हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए नहीं काटे जाएंगे पेड़

नई दिल्ली। दक्षिण दिल्ली में 7 कलोनियों के हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए अब पेड़ नहीं काटे जाएंगे। अब पेड़ों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए नए सिरे से प्रोजेक्ट को तैयार किया जाएगा। राष्ट्रीय भवन निर्माण और केंद्रिय लोक निर्माण विभाग निर्माणधीन प्रोजेक्ट के डिजाइन में फेरबदल करेंगे। बता दें कि इस मामले में गुरुवार को केंद्रीय आवास व शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी की अध्यक्षता में हुई बैठक में पूरे प्रोजेक्ट की नए सिरे से समीक्षा की गई। बैठक में मंत्रालय सचिव दुर्गा शंकर मिश्र, उपराज्यपाल अनिल बैजल समेत वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। बैठक में एनबीसीसी व पीडब्ल्यूडी को निर्देश दिया गया कि वे प्रोजेक्ट के बचे हुए हिस्से में इस तरह बदलाव करें, जिससे पेड़ों को कटने से बचाया जा सके। 

ये भी पढ़े-राजस्थान के श्रम विभाग में कर्मचारी नहीं पहन सकेंगे जींस और टीशर्ट, श्रमायुक्त ने जारी किया अ...


गौरतलब है कि इस मामले में 9 जानवरी को हुई बैठक में डीडीए द्वारा 10 लाख पौधे लगाने के फैसले पर बात हुई थी। वहीं एनबीसीसी, सीपीडब्ल्यूडी व डीएमआरसी को 25,000, 50,000 व 20,000 हजार पौधे लगाने को कहा गया। ये सभी आठ से 12 फुट के पेड़ होंगे। पौधरोपण कार्यक्रम मानसून के दौरान अगले तीन महीनों में पूरा किया जाना है। उपराज्यपाल ने सलाह दी कि पौधारोपण अभियान में आम लोगों की भागीदारी बढ़ाने के लिए विशेषज्ञों व स्थानीय निवासियों की कमेटी बनाई जाए। 

Todays Beets: