Monday, July 16, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

चंबा में बादल फटा, जान-माल को भारी नुकसान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चंबा में बादल फटा, जान-माल को भारी नुकसान

शिमला। मानसून का मौसम पास आते ही पहाड़ के लोगों की मुश्किलें काफी बढ़ गई है। मूसलाधार बारिश ने हिमाचल में तबाही मचानी शुरू कर दी है। चंबा जिले में बादल फटने से लोगों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। उपमंडल चुराह में बादल फटने से 115 भैंसे पानी में बह गई।दरअसल जिस स्थान पर मवेशी आराम कर रहे थे, वहां पर देखते ही देखते जलस्तर काफी बढ़ गया। गुज्जर समुदाय के लोग समय की नजाकत को देखते हुए वहां से भाग गए। देखते ही देखते पानी ने बाढ़ का रूप धारण कर लिया, जिसमें 15 भैंसें बह गईं।

ये भी पढ़े-मुख्य सचिव मारपीट मामले में फंस सकते हैं सीएम और डिप्टी सीएम, दायर होगी चार्जशीट

यहा आपको बता दें कि घुमंतु गुज्जर पंजाब से अपने मवेशियों को लेकर एथन व पटाल धार जा रहे थे। लेकिन रास्ते में ही बादल फटने से उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ा। सुबह के समय गुज्जर समुदाय के लोगों ने घटना की जानकारी स्थानीय पंचायत प्रधान को दी। स्थानीय पंचायत प्रधान लता देवी व पूर्व प्रधान ध्यान सिंह ने मौके का जायजा लिया।


ये भी पढ़े-सीएम योगी ने मजार पर टोपी पहनने से किया इंकार, विपक्ष ने बनाया मुद्दा

ऐसे में प्रभावित लोगों ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। इस पर पंचायत प्रधान लता देवी का कहना है कि घटना की जानकारी मिलते ही हमने मौके का जायजा किया लोगों की सहायता के लिए हम प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। इस घटना के बाद लोगों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

गौरतलब है कि पहाड़ो पर चट्टान खिसकने से मनाली लेह हाईवे को बंद हो गया है जिस वजह से पर्यटकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

 

Todays Beets: