Thursday, November 22, 2018

Breaking News

   ऑस्ट्रेलिया के PM मॉरिशन बोले- भारत दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ती अर्थव्यवस्था     ||   पश्चिम बंगालः सिलीगुड़ी की तीस्ता नहर में 4 जिंदा मोर्टार सेल बरामद     ||   मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांडः कोर्ट ने मंजू वर्मा को 1 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा     ||   करतारपुर साहिब कॉरिडोर को मंजूरी देने पर CM अमरिंदर ने PM मोदी को कहा- शुक्रिया     ||   करतारपुर कॉरिडोर पर मोदी सरकार की मंजूरी के बाद बोला PAK- जल्द देंगे गुड न्यूज     ||   चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा, कोर्ट में किया था सरेंडर     ||   MP में चुनाव प्रचार के दौरान शख्स ने BJP कैंडिडेट को पहनाई जूतों की माला     ||   बेंगलुरु: गन्ना किसानों के साथ सीएम कुमारस्वामी की बैठक     ||   US में ट्रंप को कोर्ट से झटका, अवैध प्रवासियों को शरण देने से नहीं कर सकते इनकार    ||   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||

चंबा में बादल फटा, जान-माल को भारी नुकसान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चंबा में बादल फटा, जान-माल को भारी नुकसान

शिमला। मानसून का मौसम पास आते ही पहाड़ के लोगों की मुश्किलें काफी बढ़ गई है। मूसलाधार बारिश ने हिमाचल में तबाही मचानी शुरू कर दी है। चंबा जिले में बादल फटने से लोगों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। उपमंडल चुराह में बादल फटने से 115 भैंसे पानी में बह गई।दरअसल जिस स्थान पर मवेशी आराम कर रहे थे, वहां पर देखते ही देखते जलस्तर काफी बढ़ गया। गुज्जर समुदाय के लोग समय की नजाकत को देखते हुए वहां से भाग गए। देखते ही देखते पानी ने बाढ़ का रूप धारण कर लिया, जिसमें 15 भैंसें बह गईं।

ये भी पढ़े-मुख्य सचिव मारपीट मामले में फंस सकते हैं सीएम और डिप्टी सीएम, दायर होगी चार्जशीट

यहा आपको बता दें कि घुमंतु गुज्जर पंजाब से अपने मवेशियों को लेकर एथन व पटाल धार जा रहे थे। लेकिन रास्ते में ही बादल फटने से उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ा। सुबह के समय गुज्जर समुदाय के लोगों ने घटना की जानकारी स्थानीय पंचायत प्रधान को दी। स्थानीय पंचायत प्रधान लता देवी व पूर्व प्रधान ध्यान सिंह ने मौके का जायजा लिया।


ये भी पढ़े-सीएम योगी ने मजार पर टोपी पहनने से किया इंकार, विपक्ष ने बनाया मुद्दा

ऐसे में प्रभावित लोगों ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। इस पर पंचायत प्रधान लता देवी का कहना है कि घटना की जानकारी मिलते ही हमने मौके का जायजा किया लोगों की सहायता के लिए हम प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। इस घटना के बाद लोगों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

गौरतलब है कि पहाड़ो पर चट्टान खिसकने से मनाली लेह हाईवे को बंद हो गया है जिस वजह से पर्यटकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

 

Todays Beets: