Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

चंबा में बादल फटा, जान-माल को भारी नुकसान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चंबा में बादल फटा, जान-माल को भारी नुकसान

शिमला। मानसून का मौसम पास आते ही पहाड़ के लोगों की मुश्किलें काफी बढ़ गई है। मूसलाधार बारिश ने हिमाचल में तबाही मचानी शुरू कर दी है। चंबा जिले में बादल फटने से लोगों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। उपमंडल चुराह में बादल फटने से 115 भैंसे पानी में बह गई।दरअसल जिस स्थान पर मवेशी आराम कर रहे थे, वहां पर देखते ही देखते जलस्तर काफी बढ़ गया। गुज्जर समुदाय के लोग समय की नजाकत को देखते हुए वहां से भाग गए। देखते ही देखते पानी ने बाढ़ का रूप धारण कर लिया, जिसमें 15 भैंसें बह गईं।

ये भी पढ़े-मुख्य सचिव मारपीट मामले में फंस सकते हैं सीएम और डिप्टी सीएम, दायर होगी चार्जशीट

यहा आपको बता दें कि घुमंतु गुज्जर पंजाब से अपने मवेशियों को लेकर एथन व पटाल धार जा रहे थे। लेकिन रास्ते में ही बादल फटने से उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ा। सुबह के समय गुज्जर समुदाय के लोगों ने घटना की जानकारी स्थानीय पंचायत प्रधान को दी। स्थानीय पंचायत प्रधान लता देवी व पूर्व प्रधान ध्यान सिंह ने मौके का जायजा लिया।


ये भी पढ़े-सीएम योगी ने मजार पर टोपी पहनने से किया इंकार, विपक्ष ने बनाया मुद्दा

ऐसे में प्रभावित लोगों ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। इस पर पंचायत प्रधान लता देवी का कहना है कि घटना की जानकारी मिलते ही हमने मौके का जायजा किया लोगों की सहायता के लिए हम प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। इस घटना के बाद लोगों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

गौरतलब है कि पहाड़ो पर चट्टान खिसकने से मनाली लेह हाईवे को बंद हो गया है जिस वजह से पर्यटकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

 

Todays Beets: