Sunday, January 20, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

योगी के खिलाफ निगरानी याचिका पर हाईकोर्ट करेगी सुनवाई, समर्थकों पर है फायरिंग और बवाल का आरोप

प्रियंका गुप्ता
योगी के खिलाफ निगरानी याचिका पर हाईकोर्ट करेगी सुनवाई, समर्थकों पर है फायरिंग और बवाल का आरोप

इलहाबाद। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने खिलाफ दायर एक पुराने मामले को लेकर मुश्किलों में पड़ सकते हैं। सीएम के खिलाफ आपराधिक मुकदमा चलाए जाने को लेकर हाईकोर्ट में दाखिल निगरानी याचिका पर बुधवार को सुनवाई करेगी। यह याचिका ग्रीष्मावकाश के समय दाखिल की गई थी, जिस पर कोर्ट ने 4 जुलाई को सुनवाई की तिथि तय की थी। दरअसल इस मामले में  सेशन कोर्ट महाराजगंज के उस फैसले को चुनौती दी गई है, जिसमें सेशनकोर्ट ने याची की निगरानी खारिज कर दी थी।

ये भी पढ़े-मुख्य सचिव मारपीट मामले में पुलिस की केजरीवाल के निजी सचिव से पूछताछ


यहां आपको बता दें कि यह याचिका महाराजगंज के अजीज ने दाखिल की है। इस याचिका में सीएम पर आरोप है कि 10 फरवरी 1999 में योगी आदित्यनाथ के समर्थकों ने बवाल और फायरिंग की थी, जिसमे याचिकाकर्ता के गार्ड को गोली लगने से उसकी मौत हो गई थी।

Todays Beets: