Monday, June 17, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

ओमप्रकाश राजभर भी हुए 'बागी' , यूपी की 39 सीटों पर अपनी पार्टी के उतारे उम्मीदवार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ओमप्रकाश राजभर भी हुए

लखनऊ । सूबे की योगी आदित्यनाथ सरकार की सहयोगी पार्टी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर भी बागियों की सूची में शामिल हो गए हैं। लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के सियासी समर में पार्टी ने मंगलवार को फैसला लिया है कि वह भाजपा के साथ गठबंधन का हिस्सा नहीं बनेगी । इसके साथ ही पार्टी ने अपने 39 प्रत्याशियों के नाम की एक सूची भी जारी की है। उन्होंने कहा कि भाजपा के साथ विधानसभा में समझौता रहेगा , लेकिन लोकसभा चुनावों में हम अपने उम्मीदवार उतार रहे हैं। हम किसी को हराने के लिए नहीं बल्कि जीतने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के 39 प्रत्याशियों के नाम की घोषणा के बाद पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि साल 2014 में हमने भारतीय जनता पार्टी के साथ चुनाव लड़ा। इस बार भाजपा हमें सीटों के ऐलान के नाम पर टहलाती रही । भाजपा के इस रुख से हमारे कार्यकर्ताओं में काफी नाराजगी है। इसलिए हमने यूपी की 39 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला लिया है ।

रेलवे टिकट पर मोदी की फोटो , चुनाव आयोग की फटकार के बाद रेलवे ने 4 कर्मचारियों को निलंबित किया

राजभर ने इस दौरान कहा कि भाजपा , कांग्रेस समेत सपा-बसपा गठबंधन में से किसी ने भी राजभर समाज के नेताओं को टिकट नहीं दिया है । हालांकि हमारी आज भी इच्छा है कि हम बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ें। इसलिए हमने विधानसभा में भाजपा के साथ रहने लेकिन लोकसभा के लिए अपने उम्मीदवार उतारने का फैसला लिया है ।


चुनाव आयोग के प्रतिबंध पर योगी आदित्यनाथ का 'मास्टरस्टोक' , बजरंग सेतु मंदिर जाकर पढ़ी हनुमान चालीसा

बता दें कि पूर्वांचल में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी की काफी पैंठ है । साल 2014 में राजभर की पार्टी और अपना दल के सहारे भाजपा ने उत्तर प्रदेश में 73 सीटों के रिकार्ड को छूआ था। पूर्वांचल में राजभर बिरादरी का बड़ा वोट बैंक है।

राहुल गांधी के बाद अब बहन प्रियंका ने भी भाषण में कर दी गड़बड़ , लोग बोले आखिर बहन किसकी है

Todays Beets: