Monday, October 23, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

तेजस्वी ने सीएम 'सुशासन बाबू' नीतीश कुमार के साथ नहीं किया मंच साझा, नहीं आए विश्व युवा कौशल दिवस समारोह में

अंग्वाल संवाददाता
तेजस्वी ने सीएम

पटना। बेनामी संपत्ति के मामले में घिरे राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के पुत्र और सूबे के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अनबन सामने दिखने लगी है। इसी अनबन के चलते शनिवार को उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने विश्व युवा कौशल दिवस समारोह में सीएम के साथ मंच सांझा नहीं किया। विवादों के चलते उन्होंने इस कार्यक्रम से कन्नी काट ली। इसके चलते स्टेज पर तेजस्वी की सीट पर लगी नेम प्लेट को ढक दिया। इस सब के बाद एक बार फिर राजद और जदयू के बीच तेजस्वी के इस्तीफे को लेकर पैदा हुआ गतिरोध और चरम पर नजर आ रहा है। 

बता दें कि विश्व युवा कौशल दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव दोनों को शिरकत करनी थी, लेकिन इस कार्यक्रम में शिरकत करने से तेजस्वी ने मना कर दिया है। सामने आ रहा है कि बेनामी संपत्ति के चलते उपजे विवादों के बाद जदयू द्वारा तेजस्वी का इस्तीफा मांगे जाने से नाराज तेजस्वी, सीएम के साथ मंच सांझा नहीं करना चाहते। इन्हीं कारणों से उन्होंने इस समारोह में शिरकत करने से मना कर दिया है। इन खबरों के बाद स्टेज पर उनके सीट पर लगी नेमप्लेट को ढक दिया गया है। 


लालू परिवार के सदस्यों पर बेनामी संपत्ति के आरोपों के साथ ही उपमुख्यमंत्री का नाम भी विवादों में घिरने पर भाजपा ने उनके इस्तीफे की मांग की थी। इसके बाद सुशासन बाबू के नाम से पहचान बना चुके सीएम नीतीश कुमार से उन्हें पद से हटाने की मांग की गई। इस सब के चलते जदयू और राजद के बीच गतिरोध पैदा हो गया है। जदयू ने साफ कर दिया है कि राजद को तेजस्वी के इस्तीफे को लेकर ठोस निर्णय लेना होगा, चाहे वह उसकी जगह किसी को भी अपनी ओर से उपमुख्यमंत्री पद पर तैनात कर दें। इन सब विवादों के चलते बिहार में महागठबंधन टूटने की कगार पर है, क्योंकि राजद के विधायक पीछे हटने को तैयार नहीं है और नीतीश कुमार खुद कह चुके हैं कि अगर दी गई समयसीमा के अंदर तेजस्वी ने इस्तीफा नहीं दिया तो वो खुद पद छोड़ देंगे। 

Todays Beets: