Monday, June 17, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

राजस्थान में रार : लोकसभा चुनावों में बेटे वैभव की हार पर गहलोत बोले - प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट लें जिम्मेदारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राजस्थान में रार : लोकसभा चुनावों में बेटे वैभव की हार पर गहलोत बोले - प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट लें जिम्मेदारी

जयपुर । विधानसभा चुनावों में जीत के बाद लोकसभा चुनाव प्रचंड हार का सामना करनेव वाली राजस्थान कांग्रेस में इस समय काफी उथलपुथल मची हुई है । पिछले दिनों कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी की वर्किंग कमेटी की बैठक में राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर अपने बेटे के लिए ही चुनाव प्रचार में जुटे रहने के आरोप लगाए थे । इस सब के बाद गहलोत के बेटे वैभव गहलोत हार गए । अभी पार्टी के भीतर आरोप प्रत्यारोप का यह दौर चल ही रहा था कि इस बीच अशोक गहलोत ने एक बयान में कहा कि उनके बेटे की हार की जिम्मेदारी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट को लेनी चाहिए । इस सब के चलते पार्टी के भीतर एक बार फिर से दिग्गज नेताओं के बीच गतिरोध साफ नजर आ रहा है ।

विदित हो कि विधानसभा चुनावों में भाजपा को पछाड़ने वाली कांग्रेस इस बार लोकसभा चुनावों में पूरी तरह से पस्त हो गई है । एक बार फिर से राज्य की सभी लोकसभा सीटों पर भाजपा ने कब्जा किया । इस सब के बीच एक साक्षात्कार में राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीडिया से कहा -सचिन पायलट ने कहा था कि हम बड़े बहुमत से जीतेंगे। उन्होंने कहा कि जोधपुर लोकसभा सीट में हमारे 6 विधायक जीते हैं। हमने वहां अच्छा प्रचार किया है...अब सचिन पायलट को कम से कम जोधपुर में हुई हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

हालांकि पार्टी की राज्य में हुई बड़ी हार को लेकर अशोक गहलोत पहले यह भी कह चुके हैं कि यह सबकी जिम्मेदारी है, चाहे वह प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष हों या फिर मुख्यमंत्री । इतनी बड़े पैमाने पर हार समझ  से परे हैं। जब अशोक गहलोत से इस इंटरव्यू में पूछा गया कि कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में राहुल गांधी ने कहा है कि कुछ कांग्रेस नेता पार्टी के हितों को किनारे रखकर अपने बेटों को ही आगे बढ़ाने में लगे रहे तो उनका कहना था कि ऐसी बैठकों की कुछ गोपनीयता होती है । जो कुछ भी अंदर कहा गया है उसे वहीं रहने देना चाहिए।  

उनके इस बयान पर राजस्थान के उप मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने हैरानी जताई है हालांकि उन्होंने इस पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया है। कुल मिलाकर एक बार फिर राजस्थान में दो बड़े कांग्रेसी नेताओं के बीच मनमुटाव की खबरें सामने आ रही हैं। इससे पहले भी मुख्यमंत्री पद को लेकर दोनों में तनाव हो चुका है । दोनों ने मुख्यमंत्री पद को लेकर कई दौर की बैठकें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ की थीं। उस दौरान पार्टी आलाकमान ने अशोक गहलोत को राज्य की कमान सौंपते हुए सचिन पायलट की नाराजगी को देखते हुए उन्हें उपमुख्यमंत्री का पद दिया था ।


 

 

 

Todays Beets: