Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

झांसी के एसडीएम आॅफिस से आईएसआई को भेजे गए सेना के गोपनीय दस्तावेज, एटीएस ने दफ्तर को किया सीज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
झांसी के एसडीएम आॅफिस से आईएसआई को भेजे गए सेना के गोपनीय दस्तावेज, एटीएस ने दफ्तर को किया सीज

झांसी।

उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार, झांसी के एसडीएम आॅफिस से पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को सेना से जुड़े गोपनीय दस्तावेज भेजे गए हैं। खुफिया विभाग की इस सूचना के बाद एटीएस टीम ने झांसी के एसडीएम सदर के दफ्तर पर छापा डाला और कर्मचारियों से पूछताछ की। छापेमारी के दौरान एटीएस अधिकारियों ने कंप्यूटर, पेन ड्राइव व कई अभिलेख अपने कब्जे में ले लिए हैं। जांच और पूछताछ का क्रम जारी रहेगा।

ये भी पढ़ें— अलगाववादी नेताओं को NIA कोर्ट ने 10 दिन की हिरासत पर भेजा

सूत्रों ने बताया कि एक-दो दिनों में इस सिलसिले में गिरफ्तारी भी हो सकती है। उत्तर प्रदेश  एटीएस के आईजी असीम अरुण ने बताया कि खुफिया इकाइयों से यह सूचना मिली थी कि झांसी स्थित एसडीएम सदर के कार्यालय से भारतीय सेना से जुड़ी गोपनीय सूचनाएं दूसरे मुल्कों के जासूसी एजेंटों तक भेजी जा रही हैं। इसके बाद एटीएस के उप निरीक्षक केएम राय की अगुवाई में यहां पर छापा मारा गया और कंप्यूटर, पेन ड्राइव और कई दस्तावेजों को कब्जे में ले लिया गया है।

ये भी पढ़ें— हुर्रियत के अलागगवादी नेताओं को दिल्ली में नहीं मिल रहे वकील, गिलानी समेत अन्य नेताओं से भी ह...


पहले भी सामने आ चुका है ऐसा मामला

झांसी से आईएसआई को सूचना देने का मामला पहले भी सामने आ चुका है। 2014 में एटीएस ने रिटायर्ड सूबेदार इंद्रपाल कुशवाहा को गिरफ्तार किया था। कुशवाहा के पास से दो सीडी मिली थीं, जिसमें सेना का युद्ध प्लान, सैन्य अधिकारियों की जानकारी और सेना से जुड़ी कई अति संवेदनशील जानकारियां थीं। उसने इन जानकारियों को आईएसआई को बेची थीं। इससे पहले सितंबर 2009 में उत्तर प्रदेश एटीएस ने झांसी से ही आईएसआई को सूचनाएं भेजने वाले पाकिस्तान के इम्तियाज अली सिद्दीकी और कानपुर के बिठूर से वकास अहमद उर्फ जाहिद को पकड़ा था।

ये भी पढ़ें— भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस नीति अपनाने वाले नितीश कुमार की नई सरकार के तीन-चौथाई मंत्री दागदार

 

 

Todays Beets: