Wednesday, September 20, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

झांसी के एसडीएम आॅफिस से आईएसआई को भेजे गए सेना के गोपनीय दस्तावेज, एटीएस ने दफ्तर को किया सीज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
झांसी के एसडीएम आॅफिस से आईएसआई को भेजे गए सेना के गोपनीय दस्तावेज, एटीएस ने दफ्तर को किया सीज

झांसी।

उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार, झांसी के एसडीएम आॅफिस से पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को सेना से जुड़े गोपनीय दस्तावेज भेजे गए हैं। खुफिया विभाग की इस सूचना के बाद एटीएस टीम ने झांसी के एसडीएम सदर के दफ्तर पर छापा डाला और कर्मचारियों से पूछताछ की। छापेमारी के दौरान एटीएस अधिकारियों ने कंप्यूटर, पेन ड्राइव व कई अभिलेख अपने कब्जे में ले लिए हैं। जांच और पूछताछ का क्रम जारी रहेगा।

ये भी पढ़ें— अलगाववादी नेताओं को NIA कोर्ट ने 10 दिन की हिरासत पर भेजा

सूत्रों ने बताया कि एक-दो दिनों में इस सिलसिले में गिरफ्तारी भी हो सकती है। उत्तर प्रदेश  एटीएस के आईजी असीम अरुण ने बताया कि खुफिया इकाइयों से यह सूचना मिली थी कि झांसी स्थित एसडीएम सदर के कार्यालय से भारतीय सेना से जुड़ी गोपनीय सूचनाएं दूसरे मुल्कों के जासूसी एजेंटों तक भेजी जा रही हैं। इसके बाद एटीएस के उप निरीक्षक केएम राय की अगुवाई में यहां पर छापा मारा गया और कंप्यूटर, पेन ड्राइव और कई दस्तावेजों को कब्जे में ले लिया गया है।

ये भी पढ़ें— हुर्रियत के अलागगवादी नेताओं को दिल्ली में नहीं मिल रहे वकील, गिलानी समेत अन्य नेताओं से भी ह...


पहले भी सामने आ चुका है ऐसा मामला

झांसी से आईएसआई को सूचना देने का मामला पहले भी सामने आ चुका है। 2014 में एटीएस ने रिटायर्ड सूबेदार इंद्रपाल कुशवाहा को गिरफ्तार किया था। कुशवाहा के पास से दो सीडी मिली थीं, जिसमें सेना का युद्ध प्लान, सैन्य अधिकारियों की जानकारी और सेना से जुड़ी कई अति संवेदनशील जानकारियां थीं। उसने इन जानकारियों को आईएसआई को बेची थीं। इससे पहले सितंबर 2009 में उत्तर प्रदेश एटीएस ने झांसी से ही आईएसआई को सूचनाएं भेजने वाले पाकिस्तान के इम्तियाज अली सिद्दीकी और कानपुर के बिठूर से वकास अहमद उर्फ जाहिद को पकड़ा था।

ये भी पढ़ें— भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस नीति अपनाने वाले नितीश कुमार की नई सरकार के तीन-चौथाई मंत्री दागदार

 

 

Todays Beets: