Saturday, November 25, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

LIVE- बाबा राम रहीम पंचकुला कोर्ट पहुंचे, अराजकता फैलाने वालों की जमकर होगी धुनाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
LIVE- बाबा राम रहीम पंचकुला कोर्ट पहुंचे, अराजकता फैलाने वालों की जमकर होगी धुनाई

चंडीगढ़ । डेरा सच्चा सौदा प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम पर लगे यौन शोषण के आरोपों पर पंचकुला की सीबीआई कोर्ट थोड़ी देर में फैसला सुनाएगी। आशंका जताई जा रही है कि अगर फैसला बाबा के खिलाफ आया तो पंजाब-हरियाणा के कई इलाकों मे भारी हिंसा हो सकती है। समर्थक हिंसक प्रदर्शन को अंजाम दे सकते हैं। इस सब के बीच हाईकोर्ट ने पुलिस प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि अगर उन्हें अराजक हो रहे लोगों को काबू में करने के लिए बल का प्रयोग करना पड़े तो हिचके ना। इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि कोर्ट की इस पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की भी जाए। इस दौरान पूरे हाईवे पर हेलीकॉप्टर और ड्रोन से निगरानी की जा रही है।

बता दें कि यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे बाबा राम रहीम 800 कारों के काफीले के साथ पंचकुला की सीबीआई कोर्ट की ओर चले थे लेकिन कोर्ट में उनकी दो कारों को ही प्रवेश मिला। उनके खिलाफ फैसला आने की सूरत में इलाके में मौजूद लाखों समर्थकों द्वारा हिंसा की आशंका जताई जा रही है, जिसके मद्देनजर पुलिस प्रशासन ने हाई अलर्ट घोषित करते हुए समर्थकों की हर हरकत पर अपनी नजर बनाई हुई है। हालांकि इस मुद्दे को लेकर हाईकोर्ट ने निर्देश दिए हैं कि अराजकता फैलाने वालों पर सख्ती से कार्रवाई करें। अगर बल प्रयोग करना पड़े तो हिचके नहीं। 


इतना ही नहीं कोर्ट ने इस मुद्दे को राजनीति से दूर रखने के लिए नेताओं को शहर से दूर रहने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान डेरा सच्चा सौदा के प्रवक्ता आदित्य हंसा ने कहा कि बाबा के समर्थक कोर्ट के फैसले का सम्मान करें। किसी प्रकार की हिंसा को अंजान न दें। 

Todays Beets: