Friday, July 20, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

LIVE- बाबा राम रहीम पंचकुला कोर्ट पहुंचे, अराजकता फैलाने वालों की जमकर होगी धुनाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
LIVE- बाबा राम रहीम पंचकुला कोर्ट पहुंचे, अराजकता फैलाने वालों की जमकर होगी धुनाई

चंडीगढ़ । डेरा सच्चा सौदा प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम पर लगे यौन शोषण के आरोपों पर पंचकुला की सीबीआई कोर्ट थोड़ी देर में फैसला सुनाएगी। आशंका जताई जा रही है कि अगर फैसला बाबा के खिलाफ आया तो पंजाब-हरियाणा के कई इलाकों मे भारी हिंसा हो सकती है। समर्थक हिंसक प्रदर्शन को अंजाम दे सकते हैं। इस सब के बीच हाईकोर्ट ने पुलिस प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि अगर उन्हें अराजक हो रहे लोगों को काबू में करने के लिए बल का प्रयोग करना पड़े तो हिचके ना। इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि कोर्ट की इस पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की भी जाए। इस दौरान पूरे हाईवे पर हेलीकॉप्टर और ड्रोन से निगरानी की जा रही है।

बता दें कि यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे बाबा राम रहीम 800 कारों के काफीले के साथ पंचकुला की सीबीआई कोर्ट की ओर चले थे लेकिन कोर्ट में उनकी दो कारों को ही प्रवेश मिला। उनके खिलाफ फैसला आने की सूरत में इलाके में मौजूद लाखों समर्थकों द्वारा हिंसा की आशंका जताई जा रही है, जिसके मद्देनजर पुलिस प्रशासन ने हाई अलर्ट घोषित करते हुए समर्थकों की हर हरकत पर अपनी नजर बनाई हुई है। हालांकि इस मुद्दे को लेकर हाईकोर्ट ने निर्देश दिए हैं कि अराजकता फैलाने वालों पर सख्ती से कार्रवाई करें। अगर बल प्रयोग करना पड़े तो हिचके नहीं। 


इतना ही नहीं कोर्ट ने इस मुद्दे को राजनीति से दूर रखने के लिए नेताओं को शहर से दूर रहने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान डेरा सच्चा सौदा के प्रवक्ता आदित्य हंसा ने कहा कि बाबा के समर्थक कोर्ट के फैसले का सम्मान करें। किसी प्रकार की हिंसा को अंजान न दें। 

Todays Beets: