Friday, September 22, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

मध्यप्रदेश में बजरंग दल की गुंडागर्दी, थाने पर हमला कर अपने सा​थी को छुड़ाया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्यप्रदेश में बजरंग दल की गुंडागर्दी, थाने पर हमला कर अपने सा​थी को छुड़ाया

भोपाल।

बजरंग दल अक्सर अपनी गुंडागर्दी को लेकर चर्चा में रहता है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं द्वारा पुलिस पर अपनी धौंस जमाने और थाने पर हमला करने का मामला सामने आया है। भोपाल में शुक्रवार रात को बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने अपने साथी को छुड़ाने के लिए थाने पर हमला कर दिया। दरअसल, पुलिस ने बजरंग दल के नेता कमलेश ठाकुर को शराब पीकर पुलिस से मारपीट करने के आरोप में पकड़ा था।

ये भी पढ़ें— बच्ची के शव के लिए नहीं मिली एंबुलेंस, पिता कंधे पर उठाकर चल दिए ...

जानकारी के अनुसार, ठाकुर के पकड़े जाने के बाद समर्थकों ने पुलिस  थाने में हंगामा कर दिया और जब पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की, तो उन्होंने सड़क पर चक्काजाम करने का प्रयास किया। पुलिस की मौजूदगी में प्रदर्शनकारी आरोपी को ना सिर्फ छुड़ा कर ले गये, बल्कि पुलिस के सामने ठाकुर को कंधे पर बिठाकर घुमाने लगे।

ये भी पढ़ें— तेजस्वी ने सीएम 'सुशासन बाबू' नीतीश कुमार के साथ नहीं किया मंच साझा, नहीं आए विश्व युवा कौशल ...


पुलिस के सूत्रों ने बताया कि बजरंग दल का प्रांतीय संयोजक कमलेश ठाकुर नशे में धुत, भोपाल के 10 नंबर मार्केट में शराब पी रहा था। देर रात पुलिस ने इस पर ऐतराज जताया तो उसने पुलिसकर्मियों के साथ गाली गलौच शुरू कर दी। पुलिसकर्मियों ने उसे रोकने की कोशिश की तो उसने एक पुलिसकर्मी का कॉलर पकड़ लिया। इसके बाद पुलिस उसे पकड़कर हबीबगंज थाने ले गई, तो दल के लगभग 50 कार्यकर्ता भी वहां पहुंच  गए और हंगामा करते हुए नेता को छुड़ा ले गए। हालांकि इस मामले में ठाकुर का कहना है कि उस पर झूठा आरोप लगाया गया है। कमलेश्श ठाकुर ने कहा कि वह बाजार खरीदारी करने गया था।

ये भी पढ़ें— यूपी विधानसभा की सुरक्षा में एक और बड़ी चूक उजागर, सदन के सीसीटीवी कैमरे नहीं करते हर समय काम

बजरंग दल के हंगामे को देखते हुए पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी हबीबगंज थाने पहुंच गए। मौके पर पहुंचे सीएसपी सीएम द्विवेदी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ सरकारी काम में रूकावट डालने, गाली गलौच और मारपीट करने का मामला दर्ज कर लिया गया है।

 

Todays Beets: