Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

हमीरपुर में चलता-फिरता अस्पताल कर रहा लोगों का इलाज, अनुराग ठाकुर ने शुरू की थी मोबाइल हेल्थ सेवा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हमीरपुर में चलता-फिरता अस्पताल कर रहा लोगों का इलाज, अनुराग ठाकुर ने शुरू की थी मोबाइल हेल्थ सेवा

शिमला। शिमला। हिमाचल की हमीरपुर सीट से भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर ने अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपल्बध कराने के लिए मोबाइल हेल्थ सेवा शुरू की है। इसका मकसद राज्य के दूर-दराज के इलाकों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराना है। अनुराग ठाकुर के मुताबिक,1 मई 2018 से शुरू हुई, जिसके तहत अभी तक 60 ग्राम पंचायतों के 4500 लोगों को लाभ पहुंचा हैं। इस मोबाइल हेल्थ सेवा के माध्यम से हमीरपुर के लोगों को स्वास्थ्य जांच की जो कमी खल रही थी, वो परेशानी अब दूर हो रही है।

ये भी पढ़े-नौशेरा में पाकिस्तानी गोलीबारी में 1 जवान शहीद, फिर से शुरू हो सकता है आॅपरेशन आॅल आउट

बता दें कि पिछले महीने शुरू हुई इस सेवा से बहुत कम वक्त में 60 पंचायतों के 4500 लोगों को फायदा पहुंचा है। यह मोबाइल हेल्थ यूनिट अलग-अलग ग्राम पंचायतों में हफ्ते में 5 दिन चलती है। खास बात ये है कि जिस ग्राम पंचायत में यह यूनिट जाती है वहां की ग्राम पंचायत को 10 दिन पहले ही इसके बारे में सूचना दे दी जाती है।इस मोबाइल हेल्थ यूनिट में एक लैब टेक्निशियन, एक नर्स के साथ हेल्थ ऑफिसर भी हैं। इस मोबाइल यूनिट में 40 अलग-अलग मेडिकल टेस्ट किए जाते हैं। इस एसएमएस सेवा द्वारा हर रोज 75 गरीबों का इलाज किया जाता है।


ये भी पढ़े- मोदी-ट्रंप की दोस्ती में पड़ी ‘दरार’, अमेरिकी उत्पादों पर दी जाने वाली छूट खत्म

गौरतलब है कि हमीरपुर में वैसे तो 90 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हैं जिसमें लाखों की संख्या में लोग इलाज करवाने आते हैं पर देश के अन्य राज्यों की तरह यहां भी डॉक्टर, नर्स और लैब टेक्निशयन की कमी है। अनुराग ठाकुर का मानना है कि लगभग 7 लाख आयुष डॉक्टर की मदद से इस कमी को पूरा किया जा सकता है। ऐसे में राज्य में मोबाइल हेल्थ सेवा क्षेत्र के लोगों के लिए एक अच्छा जरिया साबित हो रहा है।

Todays Beets: