Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

मंत्री डीके शिवकुमार से मिले बीएस येदियुरप्पा, कर्नाटक में कयासों का बाजार गर्म

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मंत्री डीके शिवकुमार से मिले बीएस येदियुरप्पा, कर्नाटक में कयासों का बाजार गर्म

बेंगलुरु। कर्नाटक की राजनीति में गुरुवार को एक बड़े बदलाव के कयास तेज हो गए। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा कांग्रेस के नेता और सिंचाई मंत्री डीके शिवकुमार के आधिकारिक निवास पर मिलने पहुंच गए। दोनों की मुलाकातों के बाद राजनीति के गलियारों में इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन होने वाली है। हालांकि दोनों ही नेताओं ने इस बात से इंकार किया है। भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि लंबे समय से अटकी सिंचाई परियोजना के बारे में बात करने गए थे।

गौरतलब है कि कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन वाली सरकार है। कांग्रेस के मंत्री से मिलने पहुंचे बीएस येदियुरप्पा के साथ उनके सांसद बेटे भी मौजूद थे। अचानक हुई इस मुलाकात के बाद कर्नाटक की राजनीति में अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। कई नेता तो ऐसा भी कह रहे हैं कि दोनों नेताओं के बीच गठबंधन को लेकर बातें हुई हैं। हालांकि बीएस येदियुरप्पा और डीके शिवकुमार दोनों ने ही इस तरह की बात से इंकार किया है।


ये भी पढ़ें - तेजस्वी ने CM नीतीश पर फोड़ा ट्वीट बम, लिखा- बेशर्मी का ऐसा मोटा कंबल ओढ़ा है कोर्ट की फटकार ...

यहां बता दें कि बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि वे काफी लंबे समय से शिमोगा के लिए लंबित सिंचाई परियोजना के सिलसिले में मिलने गए थे। बताया जा रहा है कि सिंचाई मंत्री ने वन मंत्री से सिंगनदूर पुल के काम को जल्द ही मंजूर करने की बात कही है।  बीएस येदियुरप्पा के बेटे राघवेन्द्र ने कहा है यह कोई राजनीतिक मुलाकात नहीं थी। वे सिर्फ शिमोगा की सिंचाई परियोजना के सिलसिले में मिले थे और उन्होंने मंत्री से इसके लिए 2000 करोड़ रुपये की मांग की है और मंत्री ने उन्हें सकारात्मक जवाब दिया है। दोनों नेताओं की मुलाकात के समय पीडब्लूडी के अधिकारी भी मौजूद थे। 

Todays Beets: