Monday, December 17, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

मंत्री डीके शिवकुमार से मिले बीएस येदियुरप्पा, कर्नाटक में कयासों का बाजार गर्म

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मंत्री डीके शिवकुमार से मिले बीएस येदियुरप्पा, कर्नाटक में कयासों का बाजार गर्म

बेंगलुरु। कर्नाटक की राजनीति में गुरुवार को एक बड़े बदलाव के कयास तेज हो गए। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा कांग्रेस के नेता और सिंचाई मंत्री डीके शिवकुमार के आधिकारिक निवास पर मिलने पहुंच गए। दोनों की मुलाकातों के बाद राजनीति के गलियारों में इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन होने वाली है। हालांकि दोनों ही नेताओं ने इस बात से इंकार किया है। भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि लंबे समय से अटकी सिंचाई परियोजना के बारे में बात करने गए थे।

गौरतलब है कि कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन वाली सरकार है। कांग्रेस के मंत्री से मिलने पहुंचे बीएस येदियुरप्पा के साथ उनके सांसद बेटे भी मौजूद थे। अचानक हुई इस मुलाकात के बाद कर्नाटक की राजनीति में अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। कई नेता तो ऐसा भी कह रहे हैं कि दोनों नेताओं के बीच गठबंधन को लेकर बातें हुई हैं। हालांकि बीएस येदियुरप्पा और डीके शिवकुमार दोनों ने ही इस तरह की बात से इंकार किया है।


ये भी पढ़ें - तेजस्वी ने CM नीतीश पर फोड़ा ट्वीट बम, लिखा- बेशर्मी का ऐसा मोटा कंबल ओढ़ा है कोर्ट की फटकार ...

यहां बता दें कि बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि वे काफी लंबे समय से शिमोगा के लिए लंबित सिंचाई परियोजना के सिलसिले में मिलने गए थे। बताया जा रहा है कि सिंचाई मंत्री ने वन मंत्री से सिंगनदूर पुल के काम को जल्द ही मंजूर करने की बात कही है।  बीएस येदियुरप्पा के बेटे राघवेन्द्र ने कहा है यह कोई राजनीतिक मुलाकात नहीं थी। वे सिर्फ शिमोगा की सिंचाई परियोजना के सिलसिले में मिले थे और उन्होंने मंत्री से इसके लिए 2000 करोड़ रुपये की मांग की है और मंत्री ने उन्हें सकारात्मक जवाब दिया है। दोनों नेताओं की मुलाकात के समय पीडब्लूडी के अधिकारी भी मौजूद थे। 

Todays Beets: