Tuesday, January 22, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने दिया एक विवादित बयान, कहा-कर्नाटक में रहने वालों को कन्नड़ सीखना होगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने दिया एक विवादित बयान, कहा-कर्नाटक में रहने वालों को कन्नड़ सीखना होगा

बंगलुरु। भाजपा नेताओं के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री एस सिद्धारमैया ने भी एक विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में रहने वाले को कन्नड़ सीखना होगा नहीं तो यह भाषा का अपमान माना जाएगा। मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने यह बात कर्नाटक की स्थापना दिवस पर मनाए जाने वाले राजोत्सव के दौरान कही है। बता दें कि 1956 में इसी दिन दक्षिण भारत के कन्नड़ बोलने वाले प्रदेशों को मिलाकर कर्नाटक बनाया गया था।

कन्नड़ सीखनी होगी

गौरतलब है कि कर्नाटक दिवस के मौके पर लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री एस सिद्धारमैया ने कहा कि यहां रहने वाले सभी लोग कन्नड़िया हैं और उन्हें कन्नड़ भाषा सीखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वे कोई और भाषा सीखें इससे उन्हें कोई एतराज नहीं है लेकिन उन्हें खुद के साथ बच्चों को भी कन्नड़ सीखनी चाहिए ऐसा नहीं करने का मतलब भाषा का अपमान माना जाएगा।


ये भी पढ़ें - हिमाचल में कांग्रेस ने जारी किया घोषणापत्र, कहा- 2003 के बाद भर्ती कर्मचारियों की पुरानी पेंश...

पीएम ने दी बधाई

आपको बता दें कि 62वें कर्नाटक राजोत्सव के मौके पर बोलते हुए सिद्धारमैया ने यह भी कहा कि कर्नाटक के हर स्कूल को वहां पढ़ने आने वाले छात्रों को कन्नड़ सिखानी चाहिए। कार्यक्रम से पहले मोदी ने ट्वीट के जरिए कर्नाटक राजोत्सव की बधाई दी थी।

Todays Beets: