Thursday, November 23, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने दिया एक विवादित बयान, कहा-कर्नाटक में रहने वालों को कन्नड़ सीखना होगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने दिया एक विवादित बयान, कहा-कर्नाटक में रहने वालों को कन्नड़ सीखना होगा

बंगलुरु। भाजपा नेताओं के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री एस सिद्धारमैया ने भी एक विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में रहने वाले को कन्नड़ सीखना होगा नहीं तो यह भाषा का अपमान माना जाएगा। मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने यह बात कर्नाटक की स्थापना दिवस पर मनाए जाने वाले राजोत्सव के दौरान कही है। बता दें कि 1956 में इसी दिन दक्षिण भारत के कन्नड़ बोलने वाले प्रदेशों को मिलाकर कर्नाटक बनाया गया था।

कन्नड़ सीखनी होगी

गौरतलब है कि कर्नाटक दिवस के मौके पर लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री एस सिद्धारमैया ने कहा कि यहां रहने वाले सभी लोग कन्नड़िया हैं और उन्हें कन्नड़ भाषा सीखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वे कोई और भाषा सीखें इससे उन्हें कोई एतराज नहीं है लेकिन उन्हें खुद के साथ बच्चों को भी कन्नड़ सीखनी चाहिए ऐसा नहीं करने का मतलब भाषा का अपमान माना जाएगा।


ये भी पढ़ें - हिमाचल में कांग्रेस ने जारी किया घोषणापत्र, कहा- 2003 के बाद भर्ती कर्मचारियों की पुरानी पेंश...

पीएम ने दी बधाई

आपको बता दें कि 62वें कर्नाटक राजोत्सव के मौके पर बोलते हुए सिद्धारमैया ने यह भी कहा कि कर्नाटक के हर स्कूल को वहां पढ़ने आने वाले छात्रों को कन्नड़ सिखानी चाहिए। कार्यक्रम से पहले मोदी ने ट्वीट के जरिए कर्नाटक राजोत्सव की बधाई दी थी।

Todays Beets: