Thursday, October 19, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

किराया वृद्धि मुद्दे पर मंगू सिंह पर होगी कार्रवाई! दिल्ली सरकार ने पत्र लिख दी चेतावनी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
किराया वृद्धि मुद्दे पर मंगू सिंह पर होगी कार्रवाई! दिल्ली सरकार ने पत्र लिख दी चेतावनी

नई दिल्ली । दिल्ली मेट्रो के किराये को लेकर दिल्ली सरकार और मेट्रो चीफ मंगू सिंह के बीच तकरार बढ़ती नजर आ रही है। दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने मंगू सिंह को चेतावनी भरे एक पत्र में लिखकर साफ किया कि अगर वह  डीएमआरसी बोर्ड की बैठक में दिल्ली सरकार के रुख को सही तरीके से पेश नहीं करेंगे तो सरकार को मौजूदा नियम-कायदों के मुताबिक उनके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। 

बता दें कि दिल्ली सरकार मेट्रो किराये में वृद्धि के खिलाफ है, जबकि दिल्ली मेट्रो के एमडी मंगू सिंह साफ कर चुके हैं कि यह किराया वृद्धि होकर रहेगी क्योंकि किराया वृद्धि का फैसला पहले ही लिया जा चुका है। इस सब के बीच अब दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री ने मंगू सिंह को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्हें चुनौती देते हुए कहा कि अगर वह सरकार के रुक को प्रमुखता से नहीं रखेंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। डीएमआरसी बोर्ड में दिल्ली सरकार पांच निदेशक के चुनती है। बाद में केंद्र सरकार से विचार-विमर्श करके आपको मेट्रो का एमडी पद पर चयन किया गया है। सरकार की ओर से नामित किए जाने वाले एमडी को दिल्ली सरकार के रुख का समर्थन करना ही होता है। लेटर में कहा गया है कि अगर डीएमआरसी बोर्ड की मीटिंग में दिल्ली सरकार के स्टैंड को ठीक तरीके से नहीं रखा जाएगा तो सरकार को मौजूदा नियम- कायदों के मुताबिक कार्रवाई करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। 


सरकार का कहना है कि अगर 10 अक्तूबर से किराये में वृद्धि फेयर फिक्सेशन कमिटी की सिफारिशों के खिलाफ है। कमिटी की सिफारिशों के मुताबिक किराया बढ़ोतरी में कम से कम एक साल का गैप होना चाहिए और इस साल पांच महीने के अंतराल पर दूसरी बार किराये में बढ़ोतरी की जा रही है और दिल्ली सरकार इसके सख्त खिलाफ है। 

Todays Beets: