Thursday, May 23, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

डिंपल यादव बोलीं- मैं गढ़वाल से हूं, गढ़वाल रेजीमेंट है तो यादव रेजीमेंट पर क्या दिक्कत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
डिंपल यादव बोलीं- मैं गढ़वाल से हूं, गढ़वाल रेजीमेंट है तो यादव रेजीमेंट पर क्या दिक्कत

नई दिल्ली । समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने ऊपर जातिवाद की राजनीति करने के आरोप पर पलटवार किया है । अखिलेश यादव ने कहा - मुझ पर जातिवाद की राजनीति करने के आरोप लगाए जा रहे हैं, लेकिन यह सरासर बेबुनियाद आरोप हैं। मेरा डिंपल से शादी करना ही इस बात का परिणाम है कि मैं जातिवादी राजनीति नहीं करता । डिंपल दूसरी कास्ट की है । हम दोनों ने शादी करके जाति की दीवार को तोड़ दिया है । उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनावों में बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन करने के बाद से भाजपा घबरा गई है । हमने भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए गठबंधन किया है । हमारे रुख से भाजपा परेशान हो गई है । वहीं इस दौरान यादव रेजीमेंट के सवाल पर डिंपल यादव ने कहा- मैं गढ़वाल से हूं और गढ़वाल रेजिमेंट के बारे में देश में सब जानता हैं। ऐसे में यादव रेजीमेंट बने इसे लेकर कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए ।

मायावती को प्रधानमंत्री बनने की आशाा! अंबेडकर नगर से लोकसभा चुनावों में उतरने के दिए संकेत

बता दें कि इंडिया टुडे को दिए एक साक्षात्कार में जब अखिलेश यादव से जातिवादी राजनीति करने संबंधी आरोपों को लेकर सवाल किए गए तो उन्होंने साफ कहा कि यह कुछ लोगों के बबुनियाद निराधार आरोप हैं । अगर में जातिवादी राजनीति करता तो मैं डिंपल से शादी नहीं करता। हम दोनों की शादी ही इस बात का सबसे बड़ा सबूत है । बता दूं कि डिंपल दूसरी जाति की है जबकि में यादव हूं । हम दोनों ने शादी करके जाति की दीवार को पहले ही तोड़ दिया है ।

LIVE - मोदी के राज में देश में 'Tax Terrorism', उनके पाकिस्तान से गुप्त रिश्ते , व्यापारी हमें समर्थन दें - अरविंद केजरीवाल


अखिलेश यादव ने कहा कि क्योंकि हमने भाजपा को सत्ता से बाहर रखने के लिए इस बार बसपा के साख गठबंधन किया है, जिससे भाजपा घबरा गई है । इसलिए भाजपा जाति और धर्म का मुद्दा उठा रही है । अब जनता काफी समझदार हो गई है, वह भाजपा की इस धर्म जाति की राजनीति को इस बार चलने नहीं देगी । मैंने अपने करियर में कभी भी न तो धर्म और जाति की राजनीति की है न ही आने वाले समय में करूंगा ।

LIVE - CBSE ने घोषित किया 10वीं का रिजल्ट , 13 छात्र संयुक्त टॉपर , 500 में से पाए 499 अंक

लेकिन जब उनसे पूछा गया कि आखिर उन्होंने यादव रेजिमेंट का मुद्दा क्यों उठाता , तो वह बोले - मैं एक बार गुजरात गया था, वहां अहीर समाज के लोगों से मिला, उन लोगों की मांग थी कि अहीर रेजिमेंट होनी चाहिए । वहीं इस सवाल के जवाब पर डिंपल यादव ने कहा कि असल में वह गढ़वाल से हैं, और देश में गढ़वाल राइफल्स को अच्छी तरह से जाना जाता है । इसी तरह से यादव रेजिमेंट भी बननी चाहिए, इसमें कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए । मैं इसे किसी जात से जोड़कर नहीं देखती ।

 

Todays Beets: