Tuesday, October 16, 2018

Breaking News

   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||   सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ मामले में सीबीआई जांच की अर्जी को खारिज किया    ||   मध्यप्रदेश सरकार ने पांच नए सूचना आयुक्त चुने, राज्यपाल को भेजी सिफारिश     ||   बिहार: ASI संग शराब बेच रहा था थानेदार, अरेस्ट     ||

मध्यप्रदेश में चुनाव आयोग की नेताओं पर सख्ती, पंडालों में ताम-झाम के साथ जाने पर लगाई रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्यप्रदेश में चुनाव आयोग की नेताओं पर सख्ती, पंडालों में ताम-झाम के साथ जाने पर लगाई रोक

भोपाल। चुनाव आयोग ने 5 राज्यों में होने वाले चुनाव के मद्देनजर नेताओं पर सख्ती बढ़ा दी है। आयोग ने त्योहारों, गरबा कार्यक्रम और यज्ञ एवं भंडारे के दौरान नेताजी को पूरे ताम-झाम के साथ जाने से मना कर दिया है। आयोग का मानना है कि ऐसे मौके का इस्तेमाल नेता वोटरों को लुभाने के लिए करते हैं। बता दें कि मध्यप्रदेश में ही कई ऐसी जगहें हैं जहां नेता अपने होर्डिंग और बैनर के बीच में ही माता की स्थापना करवाते हैं। नेताओं द्वारा ऐसा करने को आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा।

गौरतलब है कि चुनाव आयोग के द्वारा 5 राज्यों में होने वाले चुनावों की तारीखों का ऐलान किया जा चुका है। ऐसे में सभी राज्यों में आचार संहिता भी लागू हो चुकी है। दुर्गापूजा के पंडालों की आड़ में नेता अपने बैनर और होर्डिंग लगवाकर मतदाताओं को लुभाने का पूरा प्रयास करते हैं। इस बार राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने नेताओं को पूरे तामझाम के साथ पंडालों में जाने के बजाय एक साधारण व्यक्ति की तरह पूजा करने और प्रसाद लेने की हिदायत दी है। 

ये भी पढ़ें - छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, 16 नक्सलियों को किया गिरफ्तार


यहां बता दें कि त्योहारों का मौका नेताओं के लिए लोगों को आकर्षित करने के लिए सबसे अच्छा माना जाता है ऐसे में निर्वाचन अधिकारी के द्वारा दी गई हिदायत से उन नेताओं की रणनीति पर पानी फिर गया है जो इसे मौके के तौर पर भुनाने की जुगत में जुटे हुए थे। बताया जा रहा है कि सिर्फ मध्यप्रदेश में ही करीब 500 से ज्यादा ऐसी जगहें हैं जहां नेता अपने बैनर और होर्डिंग के बीच माता की स्थापना कर अपना प्रचार करवाते हैं। 

 

Todays Beets: