Sunday, June 24, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

करनाल में बिजली चोरी की शिकायत पर कार्रवाई करने गई टीम को ग्राणीणों ने बनाया बंधक, पुलिस देखती रही

अंग्वाल संवाददाता
करनाल में बिजली चोरी की शिकायत पर कार्रवाई करने गई टीम को ग्राणीणों ने बनाया बंधक, पुलिस देखती रही

करनाल । हरियाणा के करनाल स्थित शेखपुरा गांव में सोमवार सुबह बिजली विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को बिजली चोरी करने वालों के यहां छापेमारी करना भारी पड़ गया। छापा मारने गई बिजली विभाग की टीम को ग्राणीमों ने बंधक बना लिया। हालांकि जिस कमरे में विभाग के कर्मचारियों को बंधक बनाया गया , उसके बाहर पुलिस वाले भी खड़े दिखे, लेकिन ग्रामीणों की भारी संख्या और गुस्से को देखते हुए वह उन्हें बाहर नहीं निकाल पाए। इस दौरान ग्रामीणों ने कहा कि एक तो पहले से ही क्षेत्र में बिजली आती नहीं है और उसपर विभाग के कर्मचारी छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम देने के लिए घरों की छपों पर कूद रहे हैं। खबर है कि गुस्साए ग्रामीणों के डर के मारे अब विभाग के कर्मचारियों ने कमरे को अंदर से बंद कर लिया है ताकि अब उनके साथ कोई मारपीट न करे। वहीं ग्राणीमों का कहना है कि विभाग के लोग खुद ही अब कमरे से बाहर नहीं आ रहे हैं। 

बता दें कि तड़के बिजली विभाग की एक टीम शेखपुरा गांव में बिजली चोरी की शिकायतों पर छापेमारी करने पहुंची। इस दौरान गांव वालों को भनक लग गई और भारी संख्या में एकत्र हुए ग्रामीणों ने इन बिजली विभाग के कर्मचारियों को बंधक बना लिया। इस दौरान ग्रामीण काफी गुस्से मे भी थे। इन लोगों का कहना था कि गांव में पहले ही बिजली नहीं आती है परसों रात को भी गांव में बिजली नहीं आई । बावजूद इसके बिजलीकर्मी घरों की छतों में कूदकर घरों में छापा मारने पहुंच जाते हैं । 


बिजलाी विभाग के कर्मचारियों को चौपाल के कमरे में बंद किया गया, हालांकि बाहर पुलिसकर्मी मौजूद हैं लेकिन ग्रामीणों के गुस्से और उनकी संख्या को देखते हुए वो मूकदर्शक बने रहे। 

वहीं विभाग के कर्मचारियों का कहना है कि वह बिजली चोरी की सूचना मिलने पर छापेमारी के लिए पहुंचे थे लेकिन ग्राणीमों ने उनके बंधक बना लिया। उनके साथ मारपीट की गई और उनके पैसे-मोबाइल भी छीन लिए गए। उनके साथ मारपीट की गई और बाद में कमरे में बंद कर दिया गया। बड़ी मुश्किल से आला अधिकारियों को घटना की जानकारी दी गई है। . उनसे उनके फोन भी छीन लिए गए. जैसे तैसे करके अधिकारियों को फोन करके मामले की सूचना दी गई ।

Todays Beets: