Saturday, August 18, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

अवैध तरीके से इंजीनियर बनने वालों पर गिरेजी गाज, जल्द होगी कार्रवाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अवैध तरीके से इंजीनियर बनने वालों पर गिरेजी गाज, जल्द होगी कार्रवाई

लखनऊ। उत्तरप्रदेश सरकार ने समाजवादी पार्टी के शासनकाल में पदोन्नती पाने वाले जूनियर इंजीनियरों पर जल्द ही कार्रवाई होने वाली है। बताया जा रहा है कि यूपी में पीडब्लूडी में 5 फीसदी पदों को वैध डिप्लोमा करने वालों को पदोन्नती देने का नियम है। ऐसे में वहां करीब 125 इंजीनियरों ने दूरस्थ शिक्षा से इंजीनियरिंग का डिप्लोमा ले लिया। अब मौजूदा यूपी सरकार ने पुरानी नियमावली में संशोधन कर दिया है जिसके बाद 112 इंजीनियरों की डिग्री फर्जी पाए गए हैं। फर्जी डिग्री वाले इंजीनियरों ने सरकार से यूजीसी की गाइडलाइन्स की प्रति भी मांगी है जिसके तहत उनकी डिग्री को गलत बताया गया है। सरकार की ओर से पीडब्लूडी मुख्यालय को 2 महीनों के अंदर ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। 

गौरतलब है कि पिछले दिनों यूपी में एक जूनियर इंजीनियर के घर पर आयकर विभाग की छापेमारी में करोड़ों रुपये की बेनामी संपत्ति का खुलासा हुआ था। बता दें कि उस जूनियर इंजीनियर के घर पर छापेमारी के दौरान कई जगहों पर उसकी संपत्ति होने के साथ कई विदेशी गाड़ियों के बारे में भी पता चला था।


ये भी पढ़ें - ‘महागठबंधन’ में शामिल होने की अटकलों पर विराम लगाते हुए कुशवाहा ने तेजस्वी को दी नसीहत, कहा- ...

यहां बता दें कि उत्तरप्रदेश में ही एक और जूनियर इंजीनियर यादव सिंह के घर पर भी छापेमारी के दौरान करोड़ों की संपत्ति का पता चला था। फिलहाल सरकार की कार्रवाई से पदोन्नत होकर जूनियर इंजीनियर बने लोगों में हड़कंप मचा हुआ है। शासन की तरफ से पीडब्ल्यूडी मुख्यालय को सभी मामलों में दो महीने में अंतिम कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं, गलत ढंग से प्रमोशन पाने वाले बाबू रोज नए-नए तिकड़म करके मामलों को लंबा खींचने की कोशिश कर रहे हैं।

Todays Beets: