Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

सुरक्षाबलों के आॅपरेशन से बौखलाए नक्सली, किया छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सुरक्षाबलों के आॅपरेशन से बौखलाए नक्सली, किया छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान

रायपुर। छत्तीसगढ़ के सुकमा में पिछले दिनों 5 अगस्त को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 15 नक्सलियों के मारे जाने की खबर के विरोध में माओवादियों ने छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान किया है। इसके लिए माओवादियों की ओर से रास्तों पर बैनर भी लगाए गए थे इसके साथ ही रास्तों पर बड़े-बड़े पेड़ों को काटकर गिरा दिया था ताकि सुरक्षाबलों के साथ ही वाहनों की आवाजाही पर भी रोक लगाई जा सके। हालांकि सुरक्षाबलों के द्वारा थोड़ी देर बाद बैनर और पेड़ों को वहां से हटा दिया गया। 

गौरतलब है कि सुकमा के जंगलों में 5 अगस्त को नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में 15 नक्सलियों के मारे जाने की खबर आई थी। माओवादियों का कहना है कि यह एक झूठी खबर है और सिर्फ अफवाह फैलाई जा रही है। इसके विरोध में ही सोमवार को माओवादियों ने छत्तीसगढ़ बंद का ऐलान किया था। बंद के आह्वान और स्थानीय लोगों में दहशत कायम रखने के लिए सड़कों पर बैनर लगाए गए और रास्तों पर पेड़ों को काटकर गिरा दिया गया।  

मुजफ्फरपुर कांड के मुख्य आरोपी के सभी बैंक खाते फ्रीज, निजी संपत्ति की भी होगी जांच


यहां बता दें कि सुकमा में तैनात सुरक्षाबलों ने कुछ  ही देर बाद सड़कों से बैनर फाड़कर फेंक दिया और कटे पेड़ों को सड़क से हटाकर रास्ते को आने-जाने के लिए खोल दिया। कुछ दिनों पहले ही नक्सलियों ने एक साथ कई वाहनों मंे आग लगा दी थी। इसके साथ ही नक्सलियों के द्वारा मुख्य रूप से सड़क निर्माण से जुड़े वाहनों को निशाना बनाया जाता है। 

 

Todays Beets: