Monday, January 21, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

सुरक्षाबलों के आॅपरेशन से बौखलाए नक्सली, किया छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सुरक्षाबलों के आॅपरेशन से बौखलाए नक्सली, किया छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान

रायपुर। छत्तीसगढ़ के सुकमा में पिछले दिनों 5 अगस्त को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 15 नक्सलियों के मारे जाने की खबर के विरोध में माओवादियों ने छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान किया है। इसके लिए माओवादियों की ओर से रास्तों पर बैनर भी लगाए गए थे इसके साथ ही रास्तों पर बड़े-बड़े पेड़ों को काटकर गिरा दिया था ताकि सुरक्षाबलों के साथ ही वाहनों की आवाजाही पर भी रोक लगाई जा सके। हालांकि सुरक्षाबलों के द्वारा थोड़ी देर बाद बैनर और पेड़ों को वहां से हटा दिया गया। 

गौरतलब है कि सुकमा के जंगलों में 5 अगस्त को नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में 15 नक्सलियों के मारे जाने की खबर आई थी। माओवादियों का कहना है कि यह एक झूठी खबर है और सिर्फ अफवाह फैलाई जा रही है। इसके विरोध में ही सोमवार को माओवादियों ने छत्तीसगढ़ बंद का ऐलान किया था। बंद के आह्वान और स्थानीय लोगों में दहशत कायम रखने के लिए सड़कों पर बैनर लगाए गए और रास्तों पर पेड़ों को काटकर गिरा दिया गया।  

मुजफ्फरपुर कांड के मुख्य आरोपी के सभी बैंक खाते फ्रीज, निजी संपत्ति की भी होगी जांच


यहां बता दें कि सुकमा में तैनात सुरक्षाबलों ने कुछ  ही देर बाद सड़कों से बैनर फाड़कर फेंक दिया और कटे पेड़ों को सड़क से हटाकर रास्ते को आने-जाने के लिए खोल दिया। कुछ दिनों पहले ही नक्सलियों ने एक साथ कई वाहनों मंे आग लगा दी थी। इसके साथ ही नक्सलियों के द्वारा मुख्य रूप से सड़क निर्माण से जुड़े वाहनों को निशाना बनाया जाता है। 

 

Todays Beets: