Monday, April 22, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

सैलरी नहीं मिली से गुस्साए कर्मचारियों ने बॉस का किया अपहरण , चार आरोपी गिरफ्तार अन्य की तलाश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सैलरी नहीं मिली से गुस्साए कर्मचारियों ने बॉस का किया अपहरण , चार आरोपी गिरफ्तार अन्य की तलाश

बेंगलुरु । कंपनी में एक महीना काम करने के बावजूद सैलरी नहीं मिलने से गुस्साए 7 लोगों ने अपनी कंपनी के बॉस का ही अपहरण कर लिया। इन लोगों ने अपने बॉस का पहली बार अपहरण करने के बाद उसे धमकाते हुए छोड़ दिया था लेकिन फिर भी सैलरी नहीं मिलने से गुस्साए इन कर्मियों ने एक बार फिर अपने बॉस का अपहरण किया और उसे दो दिन तक एक जगह बंद रखा । इस सारे घटनाक्रम से आहत बॉस ने चूहे मारने वाली दवा खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की । समय रहते उसे अस्पताल ले जाने पर जांच के दौरान पूरे घटनाक्रम का खुलासा हुआ, जिसके बाद  23 साल के सुजय एसके ने अपने चार कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है, जिसपर पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि कुछ अन्य की तलाश जारी है।

जानकारी के मुताबिक , बेंगलुरु के उल्सूर निवासी 23 वर्षीय सुजय एसके ने फरवरी में एक कंपनी खोली थी । इसके लिए उसने 7 लोगों को नौकरी पर भी रखा था । लेकिन कुछ कारणों के चलते उसे एक महीने के भीतर ही अपनी कंपनी बंद करनी पड़ी और वह सातों लोगों की सैलरी तक नहीं दे पाया । इससे गुस्साए उसकी कंपनी में काम करने वाले लोगों ने अपने पैसे निकलवाने के लिए उसके अपहरण की साजिश रची । इस क्रम में इन लोगों ने 21 मार्च को कंपनी चलाने वाले अपने बॉस 23 वर्षीय सुजय का अपहरण कर लिया । उसे दो दिन तक एक घर में रखा गया और पैसे न देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी गई । इसके बाद उसे छोड़ दिया गया ।

इस घटना के बाद सुजय ने पुलिस में कोई शिकायत नहीं की और सैलरी देने की जुगत में लग गया । लेकिन 25 मार्च को इन लोगों ने एक बार फिर से सुजय का अपहरण कर लिया और उसे मंड्या जिले में ले जाकर एक घर में रखा ।इस घटना पर डीसीपी ईस्ट राहुल कुमार ने कहा कि आरोपियों ने दो बार सुजय का अपहरण करने के साथ उसे प्रताड़ित भी किया था लेकिन उसने इसकी शिकायत पुलिस से नहीं की । वह इन घटनाओं से आहत था और उसने आत्महत्या करने की सोची, जिसके चलते उसने चूहे मारने वाली दवा खा ली । तबीयत खराब होने पर उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां मडिको लीगल केस होने के चलते पुलिस को इस मामले की जानकारी दी गई ।


पुलिस ने मामले की जांच के बाद सुजय की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज की है । उल्सूर पुलिस ने अपहरण , प्रताड़ित करने के साथ ही इन सात लोगों के खिलाफ आपराधिक साजिश का मुकदमा दर्ज किया है । सुजय की शिकायत के अनुसार , उसने अपने पूर्व कर्मचारी लीखित, रश्मि, विश्वा, तंजीम, संजय, राकेश और दर्शन को आरोपी बनाया है। पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद इनमें से चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है ,जबकि अन्य की तलाश जारी है।

 

Todays Beets: