Sunday, September 23, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

आमरण अनशन पर बैठे हार्दिक पटेल का वजन 4 किलो घटा, डाॅक्टरों ने जल्द पोषण लेने की दी सलाह

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आमरण अनशन पर बैठे हार्दिक पटेल का वजन 4 किलो घटा, डाॅक्टरों ने जल्द पोषण लेने की दी सलाह

अहमदाबाद। पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल का आमरण अनशन लगातार जारी है। उनकी मेडिकल जांच कर रहे डाॅक्टरों ने बताया कि उनका वनज 4 किलोग्राम तक कम हो गया है और जल्द ही अगर उन्हें तरल पदार्थ और खाना नहीं दिया जाता है तो उनके किडनी और दिमाग पर उल्टा असर पड़ सकता है। वहीं दूसरी तरफ हार्दिक पटेल ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी जाती हैं तो वे जल का भी त्याग कर देंगे। 

गौरतलब है कि गुजरात में किसानों की कर्ज माफी और पाटीदारों के लिए आरक्षण की मांग को लेकर हार्दिक 25 अगस्त से अपने घर पर ही अनशन कर रहे हैं। बता दें कि उन्होंने राज्य सरकार से अनशन के लिए अनुमति मांगी थी लेकिन उन्हें इसकी इजाजत नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने अपने घर से ही अनशन शुरू कर दिया। 

ये भी पढ़ें - लोकसभा चुनाव 2019 - NDA ने बिहार में सीट बंटवारे का फॉर्मूला किया तय , जदयू को 12 तो भाजपा के...


यहां आपको बता दें कि अहमदाबाद में 2015 में हार्दिक पटेल की एक रैली के बाद बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी जिसके बाद उनपर राजद्रोह का मुकदमा दर्ज कराया गया था। आमरण अनशन पर होने की वजह से वे गुरुवार को इस मामले में कोर्ट में पेश नहीं हो पाए। अब उन्हें अदालत की ओर से 14 सितंबर को पेश होने का आदेश दिया है। उनके स्वास्थ्य की जांच करने वाले चिकित्सकों की टीम की डॉक्टर नम्रता वडोदरिया ने कहा कि उनके रक्त में एसीटोन की मात्रा बढ़ रही है जिससे उनकी किडनी और दिमाग पर असर हो सकता है। उन्हें जल्द से जल्द पूरा पोषण मिलना चाहिए। अगर वह पानी लेना भी बंद करते हैं तो यह काफी नुकसानदायक हो सकता है। हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर कहा कि जनता की आवाज किसी भी कीमत पर दबाई नहीं जा सकती है। 

 

Todays Beets: