Tuesday, January 23, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

मध्यप्रदेश में दलितों का आरोप ऊंची जाति वालों ने तोड़ दिए उनके शौचालय, बाहर जाने पर देते हैं ​पीटने की धमकी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्यप्रदेश में दलितों का आरोप ऊंची जाति वालों ने तोड़ दिए उनके शौचालय, बाहर जाने पर देते हैं ​पीटने की धमकी

छतरपुर।

भारत सरकार जहां स्वच्छ भारत अभियान के तहत हर घर में शौचालय बनवाने पर जोर दे रही है। वहीं मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जिला मुख्यालय से करीब 50 किलोमीटर दूर बराखेरा गांव में शौचालय को लेकर दो जातियों के बीच तनाव बना हुआ है। दरअसल, गांव की दलित महिलाओं ने स्वर्ण जाति के कुछ लोगों पर उनके शौचालय तोड़ने का आरोप लगाया है।

ये भी पढ़ें— मध्यप्रदेश में बजरंग दल की गुंडागर्दी, थाने पर हमला कर अपने सा​थी को छुड़ाया

इन महिलाओं का कहना है कि उनके शौचालय स्वर्ण जाति के लोगों के घरों के सामने बने हुए थे, इसलिए इन लोगों ने उन्हें तोड़ दिया। इनका यह भी कहना है कि स्वर्ण जाति के लोग उन्हें बाहर शौच के लिए जाने पर पीटने की धमकी देते हैं। ऐसे स्थिति में हम क्या करें। इन महिलाओं ने बताया कि इससे परेशान होकर ये लोग अपने घरों के पीछे मिट्टी के बर्तनों का शौच के लिए इस्तेमाल करने को मजबूर हैं।


ये भी पढ़ें— बच्ची के शव के लिए नहीं मिली एंबुलेंस, पिता कंधे पर उठाकर चल दिए ...

इस मामले में दूसरे पक्ष का कहना है कि इन शौचालयों से सड़क हमेशा गंदी रहती है और आने—जाने का रास्ता नहीं बचता।  इस मामले में जिलाा पंचायत के सीईओ हर्ष दीक्षित ने कहा कि जानकारी मिलने पर एक टीम को जांच के लिए मौके पर भेजा गया है। रिपोर्ट मिलने के बाद प्रतिक्रिया दी जाएगी। खबरें हैं कि अधिकारी मध्यस्थता के जरिए विवाद सुलझाने की भी कोशिश कर रहे हैं।

 

Todays Beets: