Friday, July 21, 2017

Breaking News

   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||   नियंत्रण रेखा के पास एक चौकी में जवान ने मेजर को गोली मारी, मेजर की मौत    ||   नियंत्रण रेखा पर गुरेज सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश    ||   मानवाधिकार आयोग का आदेश, सेना की जीप से बंधे अहमद डार को दें 10 लाख मुआवजा    ||   सुरजेवाला ने कहा- सनसनी न फैलाएं, 'हां' चीन के दूत से मिले थे राहुल गांधी    ||   देखें, मुजफ्फरनगर के बीजेपी MLA उमेश मलिक ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को जेल भेजने की धमकी दी, मलिक धरने में बैठे टीचर्स से मिले थे    ||   हैम्बर्ग में 7 जुलाई को G20 समिट के लिए ब्रिक्स नेता होंगे शामिल, पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति भी लेंगे हिस्सा    ||

मध्यप्रदेश में दलितों का आरोप ऊंची जाति वालों ने तोड़ दिए उनके शौचालय, बाहर जाने पर देते हैं ​पीटने की धमकी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्यप्रदेश में दलितों का आरोप ऊंची जाति वालों ने तोड़ दिए उनके शौचालय, बाहर जाने पर देते हैं ​पीटने की धमकी

छतरपुर।

भारत सरकार जहां स्वच्छ भारत अभियान के तहत हर घर में शौचालय बनवाने पर जोर दे रही है। वहीं मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जिला मुख्यालय से करीब 50 किलोमीटर दूर बराखेरा गांव में शौचालय को लेकर दो जातियों के बीच तनाव बना हुआ है। दरअसल, गांव की दलित महिलाओं ने स्वर्ण जाति के कुछ लोगों पर उनके शौचालय तोड़ने का आरोप लगाया है।

ये भी पढ़ें— मध्यप्रदेश में बजरंग दल की गुंडागर्दी, थाने पर हमला कर अपने सा​थी को छुड़ाया

इन महिलाओं का कहना है कि उनके शौचालय स्वर्ण जाति के लोगों के घरों के सामने बने हुए थे, इसलिए इन लोगों ने उन्हें तोड़ दिया। इनका यह भी कहना है कि स्वर्ण जाति के लोग उन्हें बाहर शौच के लिए जाने पर पीटने की धमकी देते हैं। ऐसे स्थिति में हम क्या करें। इन महिलाओं ने बताया कि इससे परेशान होकर ये लोग अपने घरों के पीछे मिट्टी के बर्तनों का शौच के लिए इस्तेमाल करने को मजबूर हैं।

ये भी पढ़ें— बच्ची के शव के लिए नहीं मिली एंबुलेंस, पिता कंधे पर उठाकर चल दिए ...

इस मामले में दूसरे पक्ष का कहना है कि इन शौचालयों से सड़क हमेशा गंदी रहती है और आने—जाने का रास्ता नहीं बचता।  इस मामले में जिलाा पंचायत के सीईओ हर्ष दीक्षित ने कहा कि जानकारी मिलने पर एक टीम को जांच के लिए मौके पर भेजा गया है। रिपोर्ट मिलने के बाद प्रतिक्रिया दी जाएगी। खबरें हैं कि अधिकारी मध्यस्थता के जरिए विवाद सुलझाने की भी कोशिश कर रहे हैं।

 

Todays Beets: