Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

हिंदू जागरण मंच की स्कूलों को हिदायत, ईसाइयों का त्योहार क्रिसमस न मनाएं, धर्मांतरण की साजिश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हिंदू जागरण मंच की स्कूलों को हिदायत, ईसाइयों का त्योहार क्रिसमस न मनाएं, धर्मांतरण की साजिश

लखनऊ । यूपी के अलीगढ़ में हिंदू जागरण मंच (एचजेएम) ने क्रिसमस को मनाए जाने को लेकर एक खास तरह का फरमान जारी किया है। हिंदू जागरण मंच ने स्कूलों से कहा है कि वे अपने यहां क्रिसमस न मनाएं। अग्रेजी अखबार द हिंदू की खबर के मुताबिक, हिंदू जागरण मंच की अलीगढ़ इकाई के अध्यक्ष सोनू सविता ने कहा है कि ये हमारी सभ्यता का हिस्सा नहीं है। इसके पीछे क्रिस्चियन स्कूलों की एक साजिश है। क्रिसमस को भारत में मनाने के पीछे हिंदू बच्चों को धर्मांतरण के लिए लुभाने की एक गहरी साजिश है, जिसे सफल नहीं होने दिया जाएगा। 

ये भी पढ़ें- फारुख अब्दुल्ला के कड़वे बोल, कहा- भाजपा ये कैसा भारत बना रही है, मैं समझता हूं भारत का अंत आने वाला है

हिंदू जागरण मंच की अलीगढ़ इकाई के अध्यक्ष सोनू सविता ने कहा है कि मैं इस मुद्दे पर साफ करना चाहता हूं कि हम ईसाइयों के क्रिसमस मनाने के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन हमे इस बात से दिक्कत है कि ईसासी त्योहार हिंदू बच्चों पर थोपा जा रहा है। हम इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि जब हमारे स्कूल में ईसासी समुदाय के बच्चों की संख्या बेहद कम है तो फिर इन स्कूलों में हिंदू बच्चों के लिए क्रिसमस का जश्न ये स्कूल क्यों मनाते हैं। यह चलन गलत है, जिसे सहा नहीं जाएगा।


ये भी पढ़ें-गुजरात मॉडल को नहीं मानते गुजराती, हमने बेहतर चुनाव लड़ा, भाजपा को ही लगा करारा झटका - राहुल गांधी

संगठन के पदाधिकारियों का कहना है कि वे इस मुद्दे को लेकर ऐसे अभिभावकों को भी जागरूक करेंगे, जिनके बच्चे इन मिशनरी स्कूलों में पढ़ते हैं। अगर इन स्कूलों ने हिंदू बच्चों से जबरन क्रिसमस का जश्न मनाने को कहा तो हिंदू जागरण मंच और उसके साथ अन्य हिंदू संगठन स्कूलों के बाहर विरोध प्रदर्शन करेंगे। 

Todays Beets: