Wednesday, January 17, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

हिंदू जागरण मंच की स्कूलों को हिदायत, ईसाइयों का त्योहार क्रिसमस न मनाएं, धर्मांतरण की साजिश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हिंदू जागरण मंच की स्कूलों को हिदायत, ईसाइयों का त्योहार क्रिसमस न मनाएं, धर्मांतरण की साजिश

लखनऊ । यूपी के अलीगढ़ में हिंदू जागरण मंच (एचजेएम) ने क्रिसमस को मनाए जाने को लेकर एक खास तरह का फरमान जारी किया है। हिंदू जागरण मंच ने स्कूलों से कहा है कि वे अपने यहां क्रिसमस न मनाएं। अग्रेजी अखबार द हिंदू की खबर के मुताबिक, हिंदू जागरण मंच की अलीगढ़ इकाई के अध्यक्ष सोनू सविता ने कहा है कि ये हमारी सभ्यता का हिस्सा नहीं है। इसके पीछे क्रिस्चियन स्कूलों की एक साजिश है। क्रिसमस को भारत में मनाने के पीछे हिंदू बच्चों को धर्मांतरण के लिए लुभाने की एक गहरी साजिश है, जिसे सफल नहीं होने दिया जाएगा। 

ये भी पढ़ें- फारुख अब्दुल्ला के कड़वे बोल, कहा- भाजपा ये कैसा भारत बना रही है, मैं समझता हूं भारत का अंत आने वाला है

हिंदू जागरण मंच की अलीगढ़ इकाई के अध्यक्ष सोनू सविता ने कहा है कि मैं इस मुद्दे पर साफ करना चाहता हूं कि हम ईसाइयों के क्रिसमस मनाने के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन हमे इस बात से दिक्कत है कि ईसासी त्योहार हिंदू बच्चों पर थोपा जा रहा है। हम इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि जब हमारे स्कूल में ईसासी समुदाय के बच्चों की संख्या बेहद कम है तो फिर इन स्कूलों में हिंदू बच्चों के लिए क्रिसमस का जश्न ये स्कूल क्यों मनाते हैं। यह चलन गलत है, जिसे सहा नहीं जाएगा।


ये भी पढ़ें-गुजरात मॉडल को नहीं मानते गुजराती, हमने बेहतर चुनाव लड़ा, भाजपा को ही लगा करारा झटका - राहुल गांधी

संगठन के पदाधिकारियों का कहना है कि वे इस मुद्दे को लेकर ऐसे अभिभावकों को भी जागरूक करेंगे, जिनके बच्चे इन मिशनरी स्कूलों में पढ़ते हैं। अगर इन स्कूलों ने हिंदू बच्चों से जबरन क्रिसमस का जश्न मनाने को कहा तो हिंदू जागरण मंच और उसके साथ अन्य हिंदू संगठन स्कूलों के बाहर विरोध प्रदर्शन करेंगे। 

Todays Beets: