Monday, December 11, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

मुगलसराय स्टेशन को मिलेगा नया नाम, केंद्र ने योगी सरकार के प्रस्ताव को दी मंजूरी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुगलसराय स्टेशन को मिलेगा नया नाम, केंद्र ने योगी सरकार के प्रस्ताव को दी मंजूरी

नई दिल्ली।

उत्तर प्रदेश के मुगलसराय रेलेवे स्टेशन को जल्द ही नया नाम मिल जाएगा। इस स्टेशन का नाम बदलकर दीन दयाल उपाध्याय कर दिया जाएगा। इसके लिए योगी सरकार के प्रस्ताव को केंद्रीय गृ​ह मंत्रालय ने अपनी मंजूरी दे दी है। दरसअल, इस साल जून में उत्तर प्रदेश सरकार ने स्टेशन का नाम बदलने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। इसके बाद जुलाई में गृह मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश सरकार को एनओसी दे दी है।

ये भी पढ़ें— मोहसिन रजा ने कराया अपने निकाह का रजिस्ट्रेशन, दारुल उलेम ने बताया धार्मिक आजादी के खिलाफ

जानकारी के अनुसार, अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) जल्द ही उत्तर प्रदेश सरकार को भेजा जाएगा। सरकारी नियमों के अनुसार, अगर कोई राज्य सरकार रेलवे स्टेशन, गांव, शहर आदि का नाम बदलना चाहती है तो इसके लिए गृह मंत्रालय से एनओसी लेना अनिवार्य होता है।

ये भी पढ़ें— उत्तर प्रदेश में शादी करें और योगी सरकार से पाएं 20 हजार रुपये और एक स्मार्टफोन


जानकारी के अनुसार, इंटेलिजेंस ब्यूरो, ज्योग्राफिकल सर्वे ऑफ इंडिया, डाक विभाग और रेलवे मंत्रालय ने गृह मंत्रालय से कहा है कि उन्हें स्टेशन का नाम बदले जाने से कोई समस्या नहीं है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि किसी भी एजेंसी ने कोई प्रतिकूल रिपोर्ट नहीं दी है। रेलवे स्टेशन का नाम बदलने को लेकर उत्तर प्रदेश के पब्लिक वर्क्स डिपार्टमेंट की तरफ से डाक विभाग और जीएसाई को जानकारी देते हुए एक अधिसूचना जारी की जाएगी ताकि आम लोगों को मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम दीन दयाल उपाध्याय स्टेशन रखे जाने के बाद किसी समस्या का सामना न करना पड़े।

ये भी पढ़ें— भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस नीति अपनाने वाले नितीश कुमार की नई सरकार के तीन-चौथाई मंत्री दागदार

बता दें कि बीजेपी की सरकार बनने के बाद कई योजनाओं और स्थलों का नाम जनसंघ के नेता दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर रखा गया है। जनसंघ नेता की 1968 में मौत हो गई थी।

 

 

Todays Beets: