Saturday, September 23, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

स्कूल में बच्चे असुरक्षित, मिड-डे-मील खाने के बाद 150 बच्चे पड़े बीमार, कुछ लड़कियां गंभीर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्कूल में बच्चे असुरक्षित, मिड-डे-मील खाने के बाद 150 बच्चे पड़े बीमार, कुछ लड़कियां गंभीर

कालाहांडी । एक और जहां पूरे देश में सुप्रीम कोर्ट से लेकर केंद्र और राज्य सरकारें स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर सजग हो गई हैं, वहीं शिक्षा विभाग के अधिकारी अभी इस मामले में उदासीनता बरतने से बाज नहीं आ रहे हैं। अब खबर ओडिशा के कालाहाड़ी स्थित लांजीगढ़ ब्लॉक से आ रही है, जहां मिड-डे-मील खाने से एक - दो नहीं बल्कि चार प्राथमिक विद्यालयों के 150 से अधिक छात्र बीमार हो गए। इन छात्रों को उल्टी, पेट में दर्द और दस्त की शिकायत के बाद बिसननाथपुर में सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बता दें कि गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में बच्चे की हत्या के बाद से स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त रुख अख्तियार किया है। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को केंद्र और राज्य सरकारों को इस मामले में नोटिस जारी करते हुए तीन सप्ताह के भीतर जवाब देने को कहा है, वहीं मिड-डे-मील जैसी व्यवस्था में लगातार आ रही खामियों को दूर करने का काम होता नजर नहीं आ रहा है। उड़ीसा के कालाहाड़ी स्थित लांजीगढ़ ब्लॉक में स्थित सरकारी स्कूलों में शुक्रवार को मिड-डे-मील का खाना खाने के बाद करीब 150 बच्चों को पेट दर्द, उल्टी की शिकायत हुई। मामला बिगड़ता देख बच्चों को विसननाथपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। वहीं कुछ बच्चों को भवानीपटना के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया, हालांकि तबीयत बिगड़ने पर उन्हें बुरला वीएसएस मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, 


सामने आया है कि इस मिड-डे-मील की आपूर्ति वेदांत एल्यूमिना कंपनी की मन्ना ट्रस्ट ने माध्यम से की गई थी। वहीं इस मामले में कलहांडी जिला मजिस्ट्रेट ने जिला शिक्षा अधिकारी को आदेश दिए हैं कि वह इस फूड प्वाइजनिंग के मामले की जांच करें। इतना ही नहीं दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

Todays Beets: