Sunday, November 18, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

श्रीनगर की इरम हबीब ने कट्टरपंथियों को दिया जवाब, बनी प्रदेश की सबसे कम उम्र की महिला कर्मिशयल पायलट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
श्रीनगर की इरम हबीब ने कट्टरपंथियों को दिया जवाब, बनी प्रदेश की सबसे कम उम्र की महिला कर्मिशयल पायलट

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के कुछ नौजवान अपनी मंजिल से भटककर आतंकी गतिविधियों में शामिल हो जाते हैं वहीं कुछ ऐसे भी है जो अनुकूल माहौल नहीं होने के बावजूद कट्टरपंथियों के सामने मिसाल कायम करते हैं। श्रीनगर के डाउनटाउन की रहने वाली 30 वर्षीय इरम हबीब एक ऐसी ही युवा हैं जो जम्मू कश्मीर की सबसे कम उम्र की कमर्शियल पायलट बन गई हैं। इरम हबीब जल्द ही श्रीनगर से इंडिगो की विमान उड़ाती नजर आएंगी। 

गौरतलब है कि श्रीनगर के व्यापारी परिवार से ताल्लुक रखने वाली इरम का बचपन से ही पायलट बनने का सपना था। 12वीं पास करने के बाद उसने अपने माता-पिता को इसके बारे में बताया लेकिन घर से इसके लिए पूरी तरह से मना कर दिया गया। इरम ने अपने मन को मारकर देहरादून से फाॅरेस्ट्री में स्नातक किया और इसके बाद शेर ए कश्मीर यूनिवर्सिटी से पीएचडी करने लगी लेकिन उनका मन इसमें नहीं लग रहा था। उसने एक बार फिर से अपने पिता को अपने पायलट बनने के सपने के बारे में बताया और इस बार उसके पिता मान गए। 

ये भी पढ़ें - शोपियां में आतंकवादियों ने पुलिस टीम पर किया हमला, कार्रवाई में 3 पुलिसकर्मी शहीद


यहां बता दें कि इरम हबीब ने अमेरिका के मियामी में पायलट की ट्रेनिंग ली और वही से कमर्शियल पायलट का लाईसेंस भी लिया। ऐसा कहा जा रहा था कि ट्रेनिंग के दौरान भी इरम को लगातार ऐसा कहा जाता था कि कश्मीर की लड़की पायलट बनेगी। इन सब की परवाह किए बगैर इरम ने अपनी ट्रेनिंग पूरी की। उसके पास अमेरिका में 260 घंटे हवाई जहाज उड़ाने का अनुभव है। इसके बाद उन्हें अमेरिका और कनाडा में नौकरी मिल सकती थी लेकिन इरम भारत में ही काम करना चाहती थी इस वजह से वापस लौट आईं। फिलहाल उनके पास गो एयर और इंडिगो की तरफ से जाॅब आॅफर मिले हैं। उम्मीद की जा रही है कि 30 साल की इरम हबीब जल्द ही इंडिगो की विमान उड़ाती हुई नजर आ सकती हैं। 

 

Todays Beets: