Wednesday, September 19, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

बिहार में भी टूट सकता है भाजपा-जदयू गठबंधन!, संजय सिंह के बयान ने दी हवा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बिहार में भी टूट सकता है भाजपा-जदयू गठबंधन!, संजय सिंह के बयान ने दी हवा 

पटना। बिहार की राजनीति में भी इन दिनों उथल-पुथल मची हुई है। सीटों के बंटवारे को लेकर गठबंधन की सरकार चला रहे भाजपा और जनता दल युनाईटेड के बीच तल्खी सामने आने लगी है। जदयू के नेता संजय सिंह ने कहा भाजपा के बड़बोले नेताओं को नियंत्रण में रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भाजपा को यह बात अच्छी तरह से पता है कि बिहार में जनता दल युनाईटेड की मदद के बिना वह चुनाव नहीं जीत सकती है।  उन्होंने कहा कि 2014 और 2019 के चुनाव में बहुत बड़ा अंतर है। अगर भाजपा को सहयोगी पार्टी की जरूरत नहीं है तो वह बिहार में सभी 40 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र है।

यें भी पढ़ें-  बेगूसराय में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत, ‘सुशासन बाबू’ के दावों की खुली पोल

गौरतलब है कि आने वाले लोकसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर गठबंधन की दोनों पार्टियों के बीच तनातनी सामने आने लगी है। साल 2015 के चुनाव को आधार बनाकर जदयू इस बार भी भाजपा से ज्यादा सीटों की मांग कर सकती है। वहीं भाजपा ने इस बात से इंकार करते हुए कहा कि उस समय कांग्रेस और राजद के गठबंधन की वजह से ज्यादा सीटें दी गई थी। जनता दल युनाईटेड का कहना है कि उस समय और अब के समय में काफी अंतर है। पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा कि बिहार में भाजपा के लिए बिना जदयू के सहारे के चुनाव जीतना संभव नहीं है। 


ये भी पढ़ें - राजस्थान में भाजपा को लगा बड़ा झटका, घनश्याम तिवाड़ी ने छोड़ा पार्टी का साथ

यहां बता दें कि हिंदुस्तान अवाम मोर्चा के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी अपने बयान में कहा कि आने वाले समय में अगर नीतीश कुमार अपने फैसले को बदलकर महागठबंधन में शामिल हो भी जाते हैं तो 2020 में बिहार के मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ही होंगे। बता दें कि सीटों के बंटवारे पर भाजपा और जदयू के बीच तनातनी सामने आने लगी है। हालांकि एनडीए के नेतओं के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर कोई औपचारिक बैठक नहीं हुई है।  

Todays Beets: