Saturday, November 17, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

मध्यप्रदेश की जुवेनाइल कोर्ट ने दुष्कर्म के मामले में कायम की मिसाल, महज 7 घंटे के अंदर सुनाई सजा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्यप्रदेश की जुवेनाइल कोर्ट ने दुष्कर्म के मामले में कायम की मिसाल, महज 7 घंटे के अंदर सुनाई सजा

भोपाल । मध्यप्रदेश की जुवेनाइल कोर्ट ने दुष्कर्म के एक मामले में सजा का ऐलान करने में नई मिसाल कायम कर दी। कोर्ट ने महज 7 घंटे के अंदर आरोपी को दोषी बताते हुए सजा का ऐलान कर दिया। जुवेनाइल कोर्ट की जस्टिस तृप्ति पांडे ने दोषी व्यक्ति को 2 सालों की कैद की सजा सुनाई है। कोर्ट ने दोषी को मध्य प्रदेश के जिले के रिमांड होम भेजने का आदेश भी दिया है। बता दें कि दुष्कर्म की घटना 15 अगस्त को अंजाम दिया गया था।

गौरतलब है कि घटना के 5 दिनों के अंदर एफआईआर दर्ज करने से लेकर जांच, आरोपपत्र दाखिल करना, सुनवाई और सजा सुनाने की प्रक्रिया पूरी कर ली गई। सोमवार की सुबह केस की डायरी सौंपी गई और शाम को कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया। बताया जा रहा है कि पाॅक्सो कानून लागू होने के बाद यह पहला ऐसा मामला है जिसका फैसला इतने कम समय में सुनाया गया है। 

ये भी पढ़ें - बदले गए देश के कई राज्यों के राज्यपाल, सत्यपाल मलिक को मिली जम्मू कश्मीर की जिम्मेदारी, बेबी ...


यहां बता दें कि मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस तृप्ति पांडे ने कहा कि नाबालिग बच्चियों के खिलाफ यौन हिंसा का मामला बढ़ता जा रहा है। आरोपी की मानसिक स्थिति को ठीक करने के लिए 2 साल की सजा देकर जेल भेज दिया गया है। खबरों के अनुसार, 15 अगस्त को बच्ची आरोपी के घर पर खेल रही थी उसी समय उसने इस घटना को अंजाम दिया। बच्ची के द्वारा माता-पिता को घटना के बारे में जानकारी देने पर एफआईआर दर्ज कराया गया। 

आरोपी की गिरफ्तारी के लिए बनाई गई पुलिस टीम ने आरोपी को राजस्थान से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधिकारी ने कहा कि दोषी को आईपीसी की विभिन्न धाराओं और पॉक्सो कानून के तहत सजा सुनाई गई। जल्दी दिए गए फैसले से लोगों में एक कड़ा संदेश जाएगा। 

 

Todays Beets: