Sunday, March 24, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

मध्यप्रदेश की जुवेनाइल कोर्ट ने दुष्कर्म के मामले में कायम की मिसाल, महज 7 घंटे के अंदर सुनाई सजा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्यप्रदेश की जुवेनाइल कोर्ट ने दुष्कर्म के मामले में कायम की मिसाल, महज 7 घंटे के अंदर सुनाई सजा

भोपाल । मध्यप्रदेश की जुवेनाइल कोर्ट ने दुष्कर्म के एक मामले में सजा का ऐलान करने में नई मिसाल कायम कर दी। कोर्ट ने महज 7 घंटे के अंदर आरोपी को दोषी बताते हुए सजा का ऐलान कर दिया। जुवेनाइल कोर्ट की जस्टिस तृप्ति पांडे ने दोषी व्यक्ति को 2 सालों की कैद की सजा सुनाई है। कोर्ट ने दोषी को मध्य प्रदेश के जिले के रिमांड होम भेजने का आदेश भी दिया है। बता दें कि दुष्कर्म की घटना 15 अगस्त को अंजाम दिया गया था।

गौरतलब है कि घटना के 5 दिनों के अंदर एफआईआर दर्ज करने से लेकर जांच, आरोपपत्र दाखिल करना, सुनवाई और सजा सुनाने की प्रक्रिया पूरी कर ली गई। सोमवार की सुबह केस की डायरी सौंपी गई और शाम को कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया। बताया जा रहा है कि पाॅक्सो कानून लागू होने के बाद यह पहला ऐसा मामला है जिसका फैसला इतने कम समय में सुनाया गया है। 

ये भी पढ़ें - बदले गए देश के कई राज्यों के राज्यपाल, सत्यपाल मलिक को मिली जम्मू कश्मीर की जिम्मेदारी, बेबी ...


यहां बता दें कि मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस तृप्ति पांडे ने कहा कि नाबालिग बच्चियों के खिलाफ यौन हिंसा का मामला बढ़ता जा रहा है। आरोपी की मानसिक स्थिति को ठीक करने के लिए 2 साल की सजा देकर जेल भेज दिया गया है। खबरों के अनुसार, 15 अगस्त को बच्ची आरोपी के घर पर खेल रही थी उसी समय उसने इस घटना को अंजाम दिया। बच्ची के द्वारा माता-पिता को घटना के बारे में जानकारी देने पर एफआईआर दर्ज कराया गया। 

आरोपी की गिरफ्तारी के लिए बनाई गई पुलिस टीम ने आरोपी को राजस्थान से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधिकारी ने कहा कि दोषी को आईपीसी की विभिन्न धाराओं और पॉक्सो कानून के तहत सजा सुनाई गई। जल्दी दिए गए फैसले से लोगों में एक कड़ा संदेश जाएगा। 

 

Todays Beets: