Sunday, September 23, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

मध्यप्रदेश की जुवेनाइल कोर्ट ने दुष्कर्म के मामले में कायम की मिसाल, महज 7 घंटे के अंदर सुनाई सजा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्यप्रदेश की जुवेनाइल कोर्ट ने दुष्कर्म के मामले में कायम की मिसाल, महज 7 घंटे के अंदर सुनाई सजा

भोपाल । मध्यप्रदेश की जुवेनाइल कोर्ट ने दुष्कर्म के एक मामले में सजा का ऐलान करने में नई मिसाल कायम कर दी। कोर्ट ने महज 7 घंटे के अंदर आरोपी को दोषी बताते हुए सजा का ऐलान कर दिया। जुवेनाइल कोर्ट की जस्टिस तृप्ति पांडे ने दोषी व्यक्ति को 2 सालों की कैद की सजा सुनाई है। कोर्ट ने दोषी को मध्य प्रदेश के जिले के रिमांड होम भेजने का आदेश भी दिया है। बता दें कि दुष्कर्म की घटना 15 अगस्त को अंजाम दिया गया था।

गौरतलब है कि घटना के 5 दिनों के अंदर एफआईआर दर्ज करने से लेकर जांच, आरोपपत्र दाखिल करना, सुनवाई और सजा सुनाने की प्रक्रिया पूरी कर ली गई। सोमवार की सुबह केस की डायरी सौंपी गई और शाम को कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया। बताया जा रहा है कि पाॅक्सो कानून लागू होने के बाद यह पहला ऐसा मामला है जिसका फैसला इतने कम समय में सुनाया गया है। 

ये भी पढ़ें - बदले गए देश के कई राज्यों के राज्यपाल, सत्यपाल मलिक को मिली जम्मू कश्मीर की जिम्मेदारी, बेबी ...


यहां बता दें कि मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस तृप्ति पांडे ने कहा कि नाबालिग बच्चियों के खिलाफ यौन हिंसा का मामला बढ़ता जा रहा है। आरोपी की मानसिक स्थिति को ठीक करने के लिए 2 साल की सजा देकर जेल भेज दिया गया है। खबरों के अनुसार, 15 अगस्त को बच्ची आरोपी के घर पर खेल रही थी उसी समय उसने इस घटना को अंजाम दिया। बच्ची के द्वारा माता-पिता को घटना के बारे में जानकारी देने पर एफआईआर दर्ज कराया गया। 

आरोपी की गिरफ्तारी के लिए बनाई गई पुलिस टीम ने आरोपी को राजस्थान से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधिकारी ने कहा कि दोषी को आईपीसी की विभिन्न धाराओं और पॉक्सो कानून के तहत सजा सुनाई गई। जल्दी दिए गए फैसले से लोगों में एक कड़ा संदेश जाएगा। 

 

Todays Beets: