Tuesday, November 21, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

मेट्रो में घाटा नहीं, घोटाला हुआ, निजी टैक्सी को बढ़ावा देने के लिए किराये में की वृद्धि - मनीष सिसोदिया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मेट्रो में घाटा नहीं, घोटाला हुआ, निजी टैक्सी को बढ़ावा देने के लिए किराये में की वृद्धि - मनीष सिसोदिया

नई दिल्ली । दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि निजी टैक्सी कंपनियों को लाभ पहुंचाने के मकसद से सरकार ने मेट्रो के दाम घटाने पर अपना रुख अड़िग कर रखा है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार निजी टैक्सी की तुलना में मेट्रो को सफर महंगा बनाना चाहती है, ताकि लोग मेट्रो के बजाए इन कैब को विकल्प के रूप में अपना सकें। केंद्र सरकार ने खुद को निजी कंपनियों में बेच दिया है। इतना ही नहीं सिसोदिया ने हमला जारी रखते हुए कहा कि उन्होंने भारतीय रेल को भी बर्बाद कर दिया। 

सिसोदिया ने केंद्र सरकार पर हमला जारी रखते हुए कहा कि अगर किराया बढ़ाकर मेट्रो अपनी आमदनी बढ़ाना चाहती है तो इसके लिए और भी कई तरीके हैं। सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली मेट्रो ही नहीं बल्कि दुनिया भर के मेट्रो मुनाफे में रहते हैं क्योंकि इसमें भ्रष्ट नेताओं को रिश्वत नहीं देनी होती। उन्होंने मेट्रो में घाटा न होकर घोटाले की आशंका जताई । 


वहीं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल किराया वृद्धि को लेकर केंद्र सरकार के उदासीन रवैये का विरोध कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र के रुख के चलते ही लोगों पर किराये का बोझ बढ़ा है। हालांकि उनके रुख पर सवाल उठाते हुए केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि मेट्रो रेलवे (परिचालन और रखरखाव) एक्ट की धारा 86 और 37 के तहत केजरीवाल को पता होना चाहिए कि केंद्र सरकार भी किराया निर्धारण के क्षेत्र में FFC के काम में कोई दखल नहीं देती। 

बता दें कि मंगलवार से दिल्ली मेट्रो में सफर करना और महंगा हो गया है।  डीएमआरसी ने अपनी घोषणा के अनुसार, एक बार फिर किराये में वृद्धि कर दी है। हालांकि दिल्ली की केजरीवाल सरकार डीएमआरसी के इस फैसले के विरोध में खड़ी है।

Todays Beets: