Wednesday, August 23, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

चलती ट्रेन में मुस्लिम परिवार को दबंगों ने पीटा, रॉड से की मारपीट, सामान भी लूट ले गए

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चलती ट्रेन में मुस्लिम परिवार को दबंगों ने पीटा, रॉड से की मारपीट, सामान भी लूट ले गए

फर्रुखाबाद।

चलती ट्रेन में मुस्लिम युवक जुनैद से मारपीट और हत्या का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि उत्तर प्रदेश के फर्रूखाबाद में ऐसा ही एक और मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार, दबंगों की भीड़ ने चलती ट्रेन में एक मुस्लिम परिवार पर हमला कर दिया और परिवार के लोगों की बेरहमी से पिटाई कर दी। इसके बाद उनका सामान भी लूट लिया। मामला बुधवार का है।

खबरों के अनुसार, मुस्लिम परिवार एक शादी समारोह में शामिल होने के बाद शिकोहाबाद—कासगंज पैसेंजर ट्रेन से लौट रहा था कि मोटा और निब्कारोरी रेलवे स्टेशन के बीच पांच लोगों के समूह ने परिवार के दिव्यांग बच्चे से उसका मोबाइल छीन लिया। जब परिवार ने इसका विरोध किया, तो उन्होंने परिवार के साथ मारपीट शुरू कर दी। पीड़ित परिवार ने बताया कि ट्रेन निब्कारोरी रेलवे स्टेशन पहुंचने वाली थी कि मारपीट करने वाले लोगों ने चैन खींचकर ट्रेन रोक दी और अपने साथियों को फोन कर बुलाया लिया। करीब एक दर्जन लोग लाठी और रॉड लेकर ट्रेन में पहुंचे और परिवार के साथ मारपीट शुरू कर दी और उनका सामान भी लूट लिया।

पुलिस ने बताया कि आठ लोग गंभीर तौर पर घायल हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। पीड़ित परिवार का कहना है कि हमले के दौरान उन्होने इमरजेंसी नंबर 100 पर फोन लगाया, लेकिन फोन नहीं उठा और पुलिस भी देर से पहुंची, तब तक बदमाश भाग चुके थे। परिवार का कहना है कि पिटाई के साथ ही बदमाश उन पर सांप्रदायिक टिप्पणी भी कर रहे थे।


बता दें कि पिछले महीने  इसी तरह का हमला हरियाणा में नाबालिग जुनैद पर हुआ था। सीट के झगड़े को लेकर हुए हमले में भीड़ ने जुनैद की पीट—पीटकर हत्या कर दी। इस हमले में उसका भाई भी गंभीर तौर पर घायल हो गया था।

 

Todays Beets: