Friday, October 20, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

चलती ट्रेन में मुस्लिम परिवार को दबंगों ने पीटा, रॉड से की मारपीट, सामान भी लूट ले गए

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चलती ट्रेन में मुस्लिम परिवार को दबंगों ने पीटा, रॉड से की मारपीट, सामान भी लूट ले गए

फर्रुखाबाद।

चलती ट्रेन में मुस्लिम युवक जुनैद से मारपीट और हत्या का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि उत्तर प्रदेश के फर्रूखाबाद में ऐसा ही एक और मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार, दबंगों की भीड़ ने चलती ट्रेन में एक मुस्लिम परिवार पर हमला कर दिया और परिवार के लोगों की बेरहमी से पिटाई कर दी। इसके बाद उनका सामान भी लूट लिया। मामला बुधवार का है।

खबरों के अनुसार, मुस्लिम परिवार एक शादी समारोह में शामिल होने के बाद शिकोहाबाद—कासगंज पैसेंजर ट्रेन से लौट रहा था कि मोटा और निब्कारोरी रेलवे स्टेशन के बीच पांच लोगों के समूह ने परिवार के दिव्यांग बच्चे से उसका मोबाइल छीन लिया। जब परिवार ने इसका विरोध किया, तो उन्होंने परिवार के साथ मारपीट शुरू कर दी। पीड़ित परिवार ने बताया कि ट्रेन निब्कारोरी रेलवे स्टेशन पहुंचने वाली थी कि मारपीट करने वाले लोगों ने चैन खींचकर ट्रेन रोक दी और अपने साथियों को फोन कर बुलाया लिया। करीब एक दर्जन लोग लाठी और रॉड लेकर ट्रेन में पहुंचे और परिवार के साथ मारपीट शुरू कर दी और उनका सामान भी लूट लिया।

पुलिस ने बताया कि आठ लोग गंभीर तौर पर घायल हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। पीड़ित परिवार का कहना है कि हमले के दौरान उन्होने इमरजेंसी नंबर 100 पर फोन लगाया, लेकिन फोन नहीं उठा और पुलिस भी देर से पहुंची, तब तक बदमाश भाग चुके थे। परिवार का कहना है कि पिटाई के साथ ही बदमाश उन पर सांप्रदायिक टिप्पणी भी कर रहे थे।


बता दें कि पिछले महीने  इसी तरह का हमला हरियाणा में नाबालिग जुनैद पर हुआ था। सीट के झगड़े को लेकर हुए हमले में भीड़ ने जुनैद की पीट—पीटकर हत्या कर दी। इस हमले में उसका भाई भी गंभीर तौर पर घायल हो गया था।

 

Todays Beets: