Monday, May 28, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

अखिलेश की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक से शिवपाल रहे नदारद, मुलायम के करीबियों को मिला तोहफा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अखिलेश की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक से शिवपाल रहे नदारद, मुलायम के करीबियों को मिला तोहफा

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में चाचा-भतीजा के बीच चल रही खींचतान खत्म नहीं हो रही है। अखिलेश यादव को 5 साल के लिए पार्टी का अध्यक्ष नियुक्त किये जाने के बाद सोमवार दोपहर बाद हुई समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में  चाचा शिवपाल सिंह यादव को कोई जगह नहीं दी गई। इस बात से चाचा और भतीजा के बीच की तल्खी और बढ़ने की संभावना है।

शिवपाल को नहीं मिली जगह

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी की कार्यकारिणी में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव भी मौजूद रहे लेकिन शिवपाल सिंह यादव इस बैठक से नदारद रहे। राष्ट्रीय कार्यकारिणी में कुल 55 सदस्यों को जगह दी गई है और इसमें मुलायम सिंह यादव के करीबियों का खास ख्याल रखा गया है लेकिन मुलायम के भाई शिवपाल को पूरी तरह से नजरअंदाज कर दिया गया। यहां बता दें कि आगरा में हुए अधिवेशन में अखिलेश यादव को अध्यक्ष चुना गया था लेकिन इस अधिवेशन से मुलायम और शिवपाल दोनों ही नदारद थे। शिवपाल ने फ़ोन कर अखिलेश को बधाई दी थी इसके बाद संभावना जाती जा रही थी की दोनों के बीच तल्खी कम होगी लेकिन इस बैठक ने स्थिति को साफ कर दिया है।

ये भी पढ़ें - 3 साल 10 महीने 21 दिन बाद जेल से रिहा हुए तलवार दंपति, राजेश-नुपूर पर हमले की आशंका के चलते स...

अखिलेश के चहेतों को मिली जिम्मेदारी


आपको बता दें कि अखिलेश गुट के रामगोपाल यादव को महामंत्री का पद दिया गया है वहीं दूसरी तरफ आजम खान और वीरेन्द्र चौधरी को भी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में अहम जिम्मेदारी दी गई है। 

पिता के करीबियों का रखा ध्यान

वहीं अखिलेश ने अपने पिता मुलायम सिंह के नजदीकी नेताओं को जगह दी है।  इस नई लिस्ट में किरणमय नन्दा, संजय सेठ, मधु गुप्ता, बलराम यादव, राम आसरे विश्वकर्मा और अबु आसिम आजमी के नाम शामिल हैं।  समाजवादी पार्टी के ये सभी नेता मुलायम सिंह के करीबियों में शुमार किए जाते हैं। 

 

Todays Beets: