Thursday, January 18, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

अखिलेश की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक से शिवपाल रहे नदारद, मुलायम के करीबियों को मिला तोहफा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अखिलेश की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक से शिवपाल रहे नदारद, मुलायम के करीबियों को मिला तोहफा

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में चाचा-भतीजा के बीच चल रही खींचतान खत्म नहीं हो रही है। अखिलेश यादव को 5 साल के लिए पार्टी का अध्यक्ष नियुक्त किये जाने के बाद सोमवार दोपहर बाद हुई समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में  चाचा शिवपाल सिंह यादव को कोई जगह नहीं दी गई। इस बात से चाचा और भतीजा के बीच की तल्खी और बढ़ने की संभावना है।

शिवपाल को नहीं मिली जगह

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी की कार्यकारिणी में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव भी मौजूद रहे लेकिन शिवपाल सिंह यादव इस बैठक से नदारद रहे। राष्ट्रीय कार्यकारिणी में कुल 55 सदस्यों को जगह दी गई है और इसमें मुलायम सिंह यादव के करीबियों का खास ख्याल रखा गया है लेकिन मुलायम के भाई शिवपाल को पूरी तरह से नजरअंदाज कर दिया गया। यहां बता दें कि आगरा में हुए अधिवेशन में अखिलेश यादव को अध्यक्ष चुना गया था लेकिन इस अधिवेशन से मुलायम और शिवपाल दोनों ही नदारद थे। शिवपाल ने फ़ोन कर अखिलेश को बधाई दी थी इसके बाद संभावना जाती जा रही थी की दोनों के बीच तल्खी कम होगी लेकिन इस बैठक ने स्थिति को साफ कर दिया है।

ये भी पढ़ें - 3 साल 10 महीने 21 दिन बाद जेल से रिहा हुए तलवार दंपति, राजेश-नुपूर पर हमले की आशंका के चलते स...

अखिलेश के चहेतों को मिली जिम्मेदारी


आपको बता दें कि अखिलेश गुट के रामगोपाल यादव को महामंत्री का पद दिया गया है वहीं दूसरी तरफ आजम खान और वीरेन्द्र चौधरी को भी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में अहम जिम्मेदारी दी गई है। 

पिता के करीबियों का रखा ध्यान

वहीं अखिलेश ने अपने पिता मुलायम सिंह के नजदीकी नेताओं को जगह दी है।  इस नई लिस्ट में किरणमय नन्दा, संजय सेठ, मधु गुप्ता, बलराम यादव, राम आसरे विश्वकर्मा और अबु आसिम आजमी के नाम शामिल हैं।  समाजवादी पार्टी के ये सभी नेता मुलायम सिंह के करीबियों में शुमार किए जाते हैं। 

 

Todays Beets: