Saturday, March 23, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

‘राज्यमंत्री’ कंप्यूटर बाबा की बढ़ी महत्वाकांक्षा, अब विधान सभा टिकट की कर रहे मांग

अंग्वाल न्यूज डेस्क
‘राज्यमंत्री’ कंप्यूटर बाबा की बढ़ी महत्वाकांक्षा, अब विधान सभा टिकट की कर रहे मांग

भोपाल। मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार द्वारा 5 संतों को राज्यमंत्री का दर्जा दिए जाने के बाद बाबाओं की महत्वाकांक्षा बढ़ती जा रही है। राज्समंत्री का दर्जा पाने के बाद विवादों में रहे कम्प्यूटर बाबा अब विधानसभा चुनाव के लिए टिकट की मांग कर रहे हैं। बाबा ने कहा कि वे चाहते हैं कि विधान सभा चुनाव के लिए शिवराज सिंह ज्यादा से ज्यादा लोगों को टिकट दें और इनमें संतों को भी शामिल किया जाए ताकि वे भी समाज के साथ राज्य के विकास में अपना योगदान दे सकें। 

गौरतलब है कि शिवराज सिंह द्वारा 5 संतों कम्प्यूटर बाबा के अलावा नर्मदानंद, हरिहरानंद, भैय्यू महाराज और पंडित योगेंद्र महंत को राज्यमंत्री का दर्जा दे दिया था जिसके बाद काफी हंगामा हुआ था। इसी क्रम में सरकार ने नर्मदा नदी के लिए जन जागरुकता अभियान चलाने के लिए एक विशेष समिति भी गठित की है जिसके तहत इन बाबाओं को राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया है।


ये भी पढ़ें - पूर्व सांसदों की पेंशन नहीं होगी बंद, सुप्रीम कोर्ट ने ‘लोक प्रहरी’ की याचिका की खारिज

यहां बता दें कि राज्यमंत्री का दर्जा मिलने के बाद पहली बार मंडला पहुंचे कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि संत समुदाय कब तक समाज के भले के लिए किसी के पीछे घूमेगा। साधु-संत भी समाज के विकास में अपना योगदान देना चाहते हैं और इसके लिए वे कब तक दूसरों के भरोसे रहेंगे। ऐसे में उन्हें सक्रिय राजनीति में आने का मौका दिया जाए। कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि वे मुख्यमंत्री से सिवनी के खड़ेश्वरी बाबा के लिए विधानसभा का टिकट मांगेंगे। 

Todays Beets: