Wednesday, February 21, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

बिना आधार कार्ड या पहचान-पत्र के नहीं मिलेंगे आंगनबाड़ी के लाभ 

अंग्वाल संवाददाता
बिना आधार कार्ड या पहचान-पत्र के नहीं मिलेंगे आंगनबाड़ी के लाभ 

वाराणसी। आहार वितरण में कालाबाजारी को रोकने के लिए सरकार की तरफ से कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। इन कदमों के तहत अब आंगनबाड़ी में लोगों को आहार का वितरण आधार कार्ड, पहचान पत्र देखकर ही किया जाएगा। साथ ही अब सरकार उनके अन्य आवश्यक दस्तावेजों की भी जांच करने के बाद ही लोगों को लाभ देगी। इस मामले में कोई लापरवाही न बरती जाएं इसके लिए शासन की तरफ से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए समीक्षा की जाएगी।

वहीं आईसीडीएस की अधिकारी ने बताया कि लाभ प्राप्त करने के लिए आधार कार्ड और पहचान पत्र अनिवार्य करने के पीछे आहार वितरण में धांधलेबाजी को रोकना है। आंगनबाड़ी केंद्रों में ऐसे भी लोगों का नाम रजिस्टर हुआ है जो इसके लाभ लेने की सीमा के ऊपर हैं। पहले आहार में चोरी के कई मामले सामने आ चुके हैं। 


अधिकारी ने बताया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों की सूची में शामिल लोगों के नाम की जांच के लिए अधिकारी ऐसे लोगों के घर जाएंगे। बच्चों, महिलाओं और किशोरी से मिलकर फिर से उनसे जुड़ा सारा ब्यौरा तैयार किया जाएगा। इस पूरे मामले पर शासन अपनी कड़ी नजरें बनाए रखेगा।

Todays Beets: